दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। गुरुवार का दिन भगवान श्रीहरि विष्णु को समर्पित होता है। इस दिन भगवान श्रीहरि विष्णु करने का विधान है। साथ ही इस दिन कई चीजों को करने की मनाही होती है, जिनमें बाल कटवाना, नाखून काटना और बालों को धोना सहित कपड़े धोना शामिल हैं। अगर आपको पता नहीं है कि ऐसा क्यों कहा जाता है, तो आइए जानते हैं-

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि गुरुवार के दिन बृहस्पति देव की पूजा उपासना की जाती है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन इन चीजों को करने से गुरु कमजोर होता है, जिससे घर की सुख सम्पत्ति और धन का ह्वास होता है। हालांकि, इसके पीछे कई मिथ्या है जिसके चलते इन चीजों की मनाही है।

बाल नहीं कटवा सकते हैं

ऐसी मान्यता है कि इस दिन बाल कटवाने से बृहस्पति देव नाराज हो जाते हैं। इससे व्यक्ति को अनचाही संकटों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में सभी लोग इस दिन बाल कटवाने, नाखून काटने और शेविंग करने से बचते हैं।

शाम में झाड़ू नहीं लगाते हैं

प्राचीन समय में बिजली उपलब्ध नहीं होने के चलते लोग शाम में झाड़ू नहीं लगाते थे। वे ऐसा सुरक्षा कारणों से करते थे। अंधेरे में झाड़ू लगाने से सांप अथवा बिच्छू के दंश का खतरा रहता था। आधुनिक समय में इसे प्रथा मान लिया गया है।

बाल धोने की मनाही है

ऐसा कहा जाता है कि गुरुवार को लड़कियों को बाल नहीं धोने चाहिए। ऐसा करने से वे अपने आने वाले समय में संकटों को दावत देती हैं। कालांतर से यह प्रथा बन गई है, जिसे लोग मान भी रहे हैं।

गुरुवार को लेन-देन नहीं करते हैं 

इस दिन लोग पैसे की लेन-देने से बचते हैं। कई लोग इस नियम का आज भी पालन करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि इस दिन धन के लेन-देन से गुरु कमजोर होता है, जिससे आर्थिक संपनता चली जाती है।

Posted By: Umanath Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस