Kartik Purnima 2019 Tulsi Puja: आज कार्तिक मास की पूर्णिमा है। हिन्दू धर्म में कार्तिक पूर्णिमा का बहुत महत्व है। इस दिन स्नान-दान करने से पुण्य लाभ होता है, वहीं तुलसी का पूजन मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए उपयुक्त होता है। धा​र्मिक मान्यताओं के अनुसार, कार्तिक पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु को तुलसी पत्र अर्पित करना चाहिए। साथ ही कार्तिक मास में प्रत्येक दिन तुलसी के पास घी का दीपक चलाना चाहिए और उनकी पूजा करनी चाहिए, इससे सौभाग्य में वृद्धि होती है। यदि आप कार्तिक पूर्णिमा के दिन तुलसी की पूजा करते हैं तो आपकी मनोकामनाएं पूर्ण होंगी।

आज करें तुलसी पूजन

कार्तिक पूर्णिमा के दिन शाम के समय तुलसी का पूजन अवश्य करें। तुलसी के पास घी के 31 दीपक प्रज्जवलित करें। ऐसा करने से माता लक्ष्मी की कृपा आप पर बनी रहेगी। कार्तिक पूर्णिमा के दिन तुलसी की पूजा करने से धन, वैभव और समृद्धि की प्राप्ति होती है।

तुलसी पूजा के फायदे

हमारे हिन्दू परिवारों में प्रत्येक दिन तुलसी की पूजा की जाती है। राक्षसराज जलंधर की पतिव्रता पत्नी वृंदा ने जब आत्मदाह किया था, तब उस स्थान पर तुलसी का पौधा उग आया था। वृंदा के पतिव्रता धर्म से प्रभावित होकर भगवान विष्णु ने तुलसी स्वरुप में उसे सदैव अपने निकट होने का आशीर्वाद दिया। इसके परिणाम स्वरूप जब भी भगवान विष्णु की पूजा होती है, उसमें उनको तुलसी का पत्र जरूर अर्पित किया जाता है। ऐसे करने से भगवान विष्णु अत्यंत प्रसन्न होते हैं और अपनी कृपा बनाएं रखते हैं।

तुलसी के वास्तु और औषधीय लाभ

तुलसी के पौधे का जितना धार्मिक महत्व होता है, उतना ही इसका वास्तु और औषधि में भी महत्व है। तुलसी का पौधा आंगन में लगाने से घर का वास्तु दोष दूर होता है। वहीं, स्वास्थ्यवर्धक गुणों के कारण सर्दी-जुकाम, खराश जैसी समस्याओं में इसका उपयोग करना लाभदायक होता है।

यदि घर में तुलसी का सूखा हुआ पौधा हो तो उसे बाहर कर दें। सूखा हुआ तुलसी का पौधा घर में रखना अशुभ होता है, हमेशा हरा-भरा तुलसी का पौधा ही घर में रखें।

Posted By: Kartikey Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप