मंगलकारी हनुमान का दिन है मंगलवार

मंगलवार का दिन भगवान हनुमान जी का दिन माना जाता है। इस दिन भगवान हनुमान की पूजा और ‘ऊं श्री हनुमते नमः’ का जाप करने से लाभ होता है। इस मंत्र का जाप करने से आपके भीतर शक्ति का संचार होता है, और मनवांडित फल की प्राप्‍ति होती है। हनुमान परमेश्वर की भक्ति के सबसे बड़े स्‍वरूप और महाकाव्य रामायण में सबसे महत्वपूर्ण चरित्र हैं। कुछ प्राचीन मान्‍यताओं के अनुसार वे भगवान शिव के 11वें रुद्रावतार हैं। हनुमान सबसे बलवान और बुद्धिमान माने जाते हैं।

श्रीराम और सीता के प्रिय

रामायण के अनुसार वे परम रामभक्‍त और इसी कारण जानकी के अत्यधिक प्रिय हैं। पृथ्‍वी पर जिन सात देवरूपों को अमरत्व का वरदान प्राप्त है, उनमें से बजरंगबली भी एक हैं। हनुमानजी का अवतार भगवान राम की सहायता के लिये हुआ। हनुमानजी के पराक्रम की असंख्य गाथाएं प्रचलित हैं, कि इन्होंने किस तरह राम और सुग्रीव की मैत्री कराई, फिर वानरों की मदद से राक्षसों का मर्दन किया।

ज्ञात है हनुमान का जन्‍म समय

ज्योतिषीयों की सटीक गणना के अनुसार हनुमान जी का जन्म 1 करोड़ 85 लाख 58 हजार 112 वर्ष पहले चैत्र पूर्णिमा को मंगलवार के दिन चित्रा नक्षत्र व मेष लग्न के योग में सुबह 6.03 बजे भारत देश में वर्तमान झारखंड राज्य के गुमला जिले के आंजन नाम के छोटे से पहाड़ी गांव की एक गुफा में हुआ था। इन्हें बजरंगबली के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि इनका शरीर एक वज्र की तरह था। वे पवन-पुत्र या मारुति नंदन भी कहलाते हैं क्‍योंकि वायु, मारुत और पवन देव ने उनके जन्‍म में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी

 

By Molly Seth