Lord Shiva Temples: शिव का प्रिय महीना यानी सावन चल रहा है। इस दौरान पूरे देश में शिव के जयकारे गूंज रहे हैं। हमारे देश में तो सावन की धूम है ही वहीं देश के बाहर भी कई ऐसे धाम हैं जहां शिव पूजा का चलन बेहद ज्यादा है। आज हम अपने पाठकों को बताने जा रहे हैं उन 13 खास शिव मंदिरों के बारे में जो भारत से बाहर स्थित हैं। तो चलिए जानते हैं इन मंदिरों के बारे में।

1. शिवा हिन्दू मंदिर-जुईदोस्त: यह मंदिर एमर्स्टडम में स्थित है। यह मंदिर लगभग 4,000 वर्ग मीटर में फैला हुआ है। इस मंदिर में भगवान शिव विराजित हैं। इनके साथ श्री गणेश, देवी दुर्गा, भगवान हनुमान भी यहां विराजति हैं। इन सभी की पूजा यहां की जाती है। यहां पर पंचमुखी शिवलिंग स्थापित है।

2. अरुल्मिगु श्रीराजा कलिअम्मन मंदिर: यह जोहोर बरु, मलेशिया में स्थिति है। इस मंदिर का निर्माण वर्ष 1922 के आस-पास किया गया था। जिस क्षेत्र पर यह बना हुआ है उस भूमि को जोहोर बरु के सुल्तान द्वारा भेंट के रूप में भारतीयों को दी गई थी। पहले यह मंदिर बहुत ही छोटा था। लेकिन अब इसे विशाल और भव्य बना दिया गया है।

3. प्रम्बानन मंदिर: यह जावा, इंडोनेशिया में स्थित है। यह एक बेहद ही सुंदर मंदिर है जिसमें सभी देवी-देवताओं विराजमान हैं। इसे 10वीं शताब्दी में बनाया गया था। बता दें कि यह मंदिर भारत से बाहर बने सबसे विशाल शिव मंदिरों में से एक माना गया है।

4. मुन्नेस्वरम मंदिर: यह मुन्नेस्वरम, श्रीलंका में स्थित है। मान्यता है कि यहां भगवान राम ने रावण का वध करने के बाद भगवान शिव की आराधना की थी। इस मंदिर परिसर में 5 मंदिर स्थित हैं जिसमें से भगवान शिव का मंदिर बहुत सुंदर है।

5. शिवा विष्णु मंदिर: यह लिवेरमोरे, कैलिफोर्निया में स्थित है। यहां पर भगवान शिव के अलावा गणेश जी, देवी दुर्गा, भगवान अय्यप्पा, देवी लक्ष्मी आदि की भी आराधना की जाती है। कहा जाता है कि यहां पर मौजूद मूर्तियों को तमिलनाडु सरकार द्वारा दिया गया था।

6. पशुपतिनाथ मंदिर: यह काठमांडू, नेपाल में स्थित है। ऐसा कहा जाता है कि इसे 11वीं सदी में बनाया गया था। वहीं, इसका पुनर्निर्माण 17वीं सदी में हुआ था। यहां पर शिव जी की चार मुखी मूर्ती स्थित है।

7. शिवा मंदिर: यह ऑकलैंड, न्यूजीलैंड में स्थित है। ऐसा माना जाता है कि इस मंदिर को आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी शिवेंद्र महाराज और यज्ञ बाबा के मार्गदर्शन में हिन्दू शास्त्रों के अनुसार बनाया गया है। यहां पर शिव जी का नवदेश्वर शिवलिंग विराजित है।

8. कटासराज मंदिर: यह चकवाल, पाकिस्तान में स्थित है। यहां पर चकवाल गांव स्थित है। इससे लगभग 40 किलोमी‍टर दूर कटस में एक पहाड़ी स्थित है। ऐसा कहा जाता है कि यह मंदिर महाभारत काल यानी त्रेतायुग में भी मौजूद था। मान्यता है कि कटासराज मंदिर का कटाक्ष कुंड भगवान शिव के आंसुओं से ही निर्मित है।

9. शिवा टैम्पल: यह ज्‍यूरिख, स्विट्जरलैंड में स्थित है। इस मंदिर के गर्भ में शिवलिंग स्थित है जिसके पीछे शिवजी की नटराज स्वरूप में और देवी पार्वती की शक्ति से रूप में मूर्तियां मौजूद हैं। यहां पर शिव से संबंधित सभी त्यौहार मनाए जाते हैं।

10. शिव-विष्‍णु मंदिर: यह मेलबर्न, ऑस्‍ट्रेलिया में स्थित है। यह शिव और विष्णु जी का मंदिर है। यहां पर भक्तों की भीड़ उमड़ती है। इस मंदिर में भगवान शिव और विष्णु के साथ-साथ अन्य हिंदू देवी-देवताओं की भी आराधना की जाती है।  

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप