सिद्घिविनायक मंदिर, मुंबई

मुंबई में स्‍ि‍थत सिद्घिविनायक मंद‍िर गणेश जी के प्रस‍िद्ध मंद‍िरों में एक है। कहते हैं कि सिद्धि विनायक की महिमा अपरंपार है। यहां पर इनके दर्शन के ल‍िए हर द‍िन बड़ी संख्‍या में भक्‍त आते हैं। मुंबई का ये सिद्घिविनायक मंदिर सिर्फ भारत में ही नहीं, बल्‍िक विदेशों में भी काफी विख्‍यात है।

कनिपक्‍कम विनायक मंदिर, चित्तूर

कनिपक्कम व‍िनायक मंदिर आंध्रप्रदेश के चित्तूर जिले में मौजूद है। मान्‍यता है क‍ि यहां हर दिन भगवान गणपति का आकार बढ़ता है। इसके अलावा माना जाता है क‍ि अगर कुछ लोगों के बीच में कोई लड़ाई हो, तो यहां प्रार्थना करने से वो लड़ाई हमेशा के ल‍िए खत्‍म हो जाती है।  

त्रि‍नेत्र गणेश मंद‍िर, राजस्थान

त्रि‍नेत्र गणेश मंद‍िर रणथंभौर किले के महल पर बना करीब 1000 साल पुराना मंदिर है। यहां पर व‍िराजे गणेश जी के त्रि‍नेत्र हैं। जि‍ससे ये गणेश जी नारंगी रंग के गणेश जी त्रिनेत्र गणेश जी के नाम से भी पुकारे जाते हैं। यहां पर भी दूर-दूर से लोग इस अद्भुत रूप का दर्शन के लिए आते हैं। 

उच्ची पिल्लयार मंदिर, रॉकफोर्ट

तमिलनाडु राज्य के त्रिची शहर के मध्य पहाड़ के शिखर पर स्थित उच्ची पिल्लयार मंदिर भी गणेश जी का प्रस‍िद्ध मंद‍िर हैं। रॉक फोर्ट पहाड़ी की चोटी पर करीब 273 फुट की ऊंचाई पर बने इस मंद‍िर में मांगी गई हर मुराद पूरी होती है। यहां दूर-दूर से दर्शनार्थी दर्शन करने के लिए आते हैं।

मनाकुला विनायगर मंदिर, पुडुचेरी

भगवाग श्री गणेश का मनाकुला विनायगर मंदिर पुडुचेरी में स्‍िथत है। इस मंद‍िर को लेकर कहा जाता है कि‍ क्षेत्र पर फ्रांस के कब्‍जे से पहले इसका न‍िर्माण हुआ था। यहां मुख्‍य प्रत‍िमा के अलावा 58 तरह की गणेश मूर्तियां स्थापित हैं। यहां भी दूर दराज से भक्‍त श्रीगणेश के दर्शन हेतु आते हैं। 

By Shweta Mishra