इस सूर्य मंदिर से जुड़ी है रोचक कहानी

बिहार के लखीसराय जिले में एक गांव है जिसका नाम पोखरामा है। यह गांव सूर्यवंशियों का गढ़ माना जाता है। गांव में एक प्राचीन सूर्य मंदिर है जिसकी ख्‍याति दूर-दूर तक प्रसिद्ध है। बिहार के प्रसिद्ध उत्‍सव छठ वाले दिन यहां काफी भीड़ जुटती है। इस मंदिर के निर्माण के पीछे एक रोचक कहानी है। बताते हैं इस सूर्य मंदिर का निर्माण मोतिहारी स्‍थित भारतीय स्‍टेट बैंक के एक मैनेजर रामकिशोर सिंह ने करवाया था।

पीएफ की राशि से करवाया निर्माण

कहते हैं कि सन 1998 में रामकिशोर को एक दिन सपने में साधु दिखाई दिया। उस साधु ने रामकिशोर को सपने में अपनी जमीन पर सूर्य मंदिर बनवाने के लिए कहा। सुबह उठते ही रामकिशोर ने यह बात अपने घरवालों को बताई और फिर उन्‍होंने पोखरामा गांव में अपनी जमीन पर सूर्य मंदिर की नींव डाली। मंदिर निर्माण में काफी पैसे लगने थे, ऐसे में उन्‍होंने अपने पीएफ की सारी राशि सूर्य मंदिर निर्माण कार्य में लगा दी। इस तरह उन्‍होंने अपनी कृषि योग्य उपजाऊ कीमती जमीन पर करीब 20 लाख रुपये की लागत लगा कर भव्य सूर्य मंदिर बनवा दिया। मंदिर के बनते ही यहां भक्‍तों का तांता लगना शुरु हो गया। साल दर साल यह सूर्य मंदिर प्रसिद्ध होता जा रहा है।  

 

Posted By: Molly Seth