अगर आप कलिनरीऔर फोटोग्राफी दोनों का शौक रखते हैं और इस क्षेत्र में कुछ क्रिएटिवकरना चाहते हैं तो फूड स्टाइलिस्ट का करियर आपके सपनों को नया आयाम दे सकता है। जानें कुछ उपयोगी बातें।

खाना पकाने और बनाने की कला को ही कलिनरीआट्र्सके नाम से जाना जाता है। इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए कलिनरीआट्र्समें डिग्री लेकर आप जरूरी स्किल्ससीख सकते हैं।

क्या है फूड स्टाइलिंग फूड स्टाइलिस्ट का काम डिशेज को इस तरह डेकोरेट करना होता है कि देखते ही उन्हें खाने का मन करने लगे और भूख बढ जाए। फूड स्टाइलिस्ट को रेसिपी इंग्रीडिएंट्स और टॉपिंग्स की सामग्री खरीदने से लेकर खाना तैयार करने और उसका फोटो शूट करने तक का काम करना पडता है। शूट से पहले कॉन्सेप्ट क्रिएटकरना, जरूरी क्रॉकरी,ग्लास आइटम्स, कटलरी, फ्लॉवर्स, कैंडल, रिबन एकत्रित करने का काम भी उसी का होता है। कुल मिला कर खाने की प्रस्तुति पूरी तरह से उसकी जिम्मेदारी होती है।

क्या हैं संभावनाएं इस फील्ड के प्रोफेशनल्स कलिनरियनया कलिनरीआर्टिस्ट के तौर पर जाने जाते हैं। रेस्तरां में कार्यरत प्रोफेशनल्स को कलिनरियन शेफकहा जाता है। ये प्रोफेशनल्स होटल्स, रेस्तरांऔर अन्य संस्थानों में काम करते हैं। कलिनरी आट्र्समें कुकिंग,बेकिंगटेकनीक्स, गार्निशिंग, नाइफ स्किल्स,फूड कार्विंग, प्लेटिंग, फूड डेकोरेशन और फोटोग्राफी तक सब कुछ शामिल है। इस कोर्स के जरिये आप मल्टीटास्किंग और टीम का नेतृत्व करने जैसी स्किल्स भी सीख सकते हैं।

यहां से करें कोर्स इसका कोर्स करने के लिए किसी भी विषय में ग्रेजुएट होना जरूरी है। दाखिले की प्रक्रिया में एंट्रेंस एग्जैमऔर इंटरव्यू शामिल है। इस कोर्स से कुकिंगऔर खाद्य सेवा प्रबंधन में व्यावहारिक ट्रेनिंग के साथ कार्य अनुभव भी मिलता है। कोर्स करवाने वाले ज्यादातर संस्थान बैचलर ऑफ होटल मैनेजमेंट में चार वर्षीय कोर्स करवाते हैं। इसके अलावा कुछ जगहों पर इसके लिए स्पेशलाइज्ड़ कोर्स और डिप्लोमा कोर्स भी करवाए जाते हैं। ये संस्थान हैं- ओबेरॉयसेंटर, दिल्ली ईएचएम (मुंबई, औरंगाबाद, बेंगलुरू, चेन्नई, कोलकाता) डब्ल्यूजीएसएचए,मणिपाल नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एंड केटरिंगटेक्नोलॉजी, पूसा, नई दिल्ली क्राइस्टकॉलेज,बेंगलुरू एमिटीस्कूल ऑफ हॉस्पिटैलिटी,नोएडा इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, केटरिंगटेक्नोलॉजी एंड अप्लाइड न्यूट्रिशन, नई दिल्ली और गोवा आईआईसीए, दिल्ली

प्रेजेंटेशन है महत्वपूर्ण फूड स्टाइलिस्टप्रेरणा कारथाके मुताबिक, 'फूड स्टाइलिंगएक ऐसा फील्ड है, जिसमें वैसे तो किसी औपचारिक योग्यता की जरूरत नहीं होती लेकिन अगर आपके पास हुनर के साथ ही एक डिग्री भी हो तो करियर की राहें आसान हो जाती हैं। यानी अगर आपके पास फूड संबंधी अर्हता व योग्यता के साथ क्रिएटिव क्राफ्टवर्क और विजुअलाइजेशन पावर है या आप डिश को इनोवेटिव स्टाइल से पे्रजेंट करना जानते हैं तो यह क्षेत्र आपके लिए ही है। फोटोग्राफी एक अतिरिक्त स्किल है क्योंकि इससे खाने की खूबसूरती को बेहतर ढंग से हाइलाइट किया जा सकता है।

ध्यान रखें कि खाने को अधिक समय तक ताजा नहीं रखा जा सकता इसलिए फोटोग्रफर के लिए सही कोऑर्डिनेशनजानना जरूरी है। कई बार अंतिम समय में क्लांइटकी मांग बदल जाती है। ऐसे में स्टाइलिस्टके लिए धैर्य भी जरूरी है।