बीन्स से कुछ भी बनाते वक्त हम उसे इतना पका देते हैं कि इसके सारे पोषक तत्व निकल जाते हैं। इसे कितने तापमान में पकाना सही होगा, जानें सखी के साथ।

इसमें होता है इस्तेमाल अमेरिकन, मेक्सिकन, चाइनीज, जापानी, उत्तरी व दक्षिणी भारतीय और यूरोपियन डिशेज में फ्रेंच बीन्स का इस्तेमाल सामान्य रूप से ज्य़ादा देखने को मिलेगा। सैलेड, स्टार्टर्स और सूप से लेकर बर्गर-टिक्की तक, हर जगह बीन्स किसी न किसी रूप में मिल जाएंगी। सूखी व हरी, दोनों ही तरह की बीन्स भोजन का एक आवश्यक अंग हैं। इन्हें अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। इसके अलावा इनका इस्तेमाल होम्योपैथी दवाओं में भी किया जाता है।

स्टीमिंग विधि : एक पैन में पानी गर्म कर उसमें नमक डालें। फ्रेंच बीन्स को धोकर पानी में डालें और ढककर करीब 3-5 मिनट तक पकाएं। अब पानी को छान लें। बीन्स का हरा रंग बरकरार रखने के लिए इसे बर्फ के पानी में डिप करके पेपर टॉवल पर सुखाएं। रेसिपी : इसे हरी सब्जियों वाले सैलेड के साथ सर्व करें या पास्ता के साथ मिलाएं। बेसन के घोल में डिप कर डीप फ्राई भी कर सकते हैं या स्टीम की हुई बीन्स को सूप में डालकर परोसा जा सकता है।

सॉते विधि : फ्रेंच बीन्स को छोटे क्यूब्स में काटकर पैन में ऑलिव ऑयल या बटर डालकर सॉते करें। रेसिपी : सर्व करने के लिए इसमें अब नमक और काली मिर्च पाउडर मिलाकर दोबारा सॉते करें, जिससे लाजवाब सैलेड बनेगा। सॉते की हुई बीन्स को पुलाव, बिरयानी या दूसरी सब्जियों में मिलाकर इसका जायका बढा सकती हैं। इसके अलावा इसे परांठे या प्लेन चपाती के साथ पुदीने की चटनी के साथ खाएं, इससे आपको नया फ्स्वाद चखने को मिलेगा।

ग्रिलिंग विधि : ग्रिल पैन को हलका गर्म करें। इसमें बीन्स को 2- 5 मिनट तक ग्रिल करें। ध्यान रखें, दूसरी तरफ से भी इसी समय सीमा में ग्रिल करना है। रेसिपी : ग्रिल की हुई बीन्स में थोडा सा ऑलिव ऑयल डालकर नमक से सीजनिंग करें। इसे दूसरी सब्जियों में मिलाकर ऐसे ही सर्व करें।

स्टर-फ्राई विधि : पैन में बीन्स और ऑलिव ऑयल डालें। इसे दूसरी सब्जियों के साथ स्टर करें या फिर अलग से ही खाएं। रेसिपी : स्टर- फ्राई की हुई फ्रेंच बीन्स को सूप, सैलेड, ऑमलेट, आलू और अवियल के साथ भी सर्व कर सकती हैं।

माइक्रोवेव विधि : एक बडे बोल में बीन्स और थोडा-सा पानी डालकर माइक्रोवेव सेफ लिड या प्लेट में प्लास्टिक रैप से कवर करके 2-3 मिनट तक रख्खें। रेसिपी : सूप और सैलेड में इसका इस्तेमाल किया सकता है।

क्लाउडनाइन ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल, गुरुग्राम की न्यूट्रिशनिस्ट निवेदिता सिंह के मुताबिक, फ्रेंच बीन्स में फोलेट की मात्रा अधिक होती है इसलिए गर्भावस्था में इसका सेवन लाभदायक है। यह 2 से 5 मिनट में पकने वाली सब्जी है। इसे रूम टेम्प्रेचर पर रखना सही है। इनका इस्तेमाल सैलेड, सूप, पास्ता या सब्जी बनाने में करें। कुछ लोगों को इस तरह से पकाई गई सब्जी कच्ची लगती है लेकिन इससे ज्य़ादा पकाने पर इसके सारे पौष्टिक तत्व निकल जाते हैं। इन्हें ऊपर दिए हुए तरीकों से ही बनाएं, ताकि आपको बीन्स में मौजूद सारे पोषक तत्व मिल सकें। द्य प्रस्तुति : गीतांजलि