जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान में दौसा जिले की 13 वर्षीय एक नाबालिग को 25 वर्षीय युवक ने इंस्टाग्राम (इंटरनेट मीडिया) पर माडल जैसी फोटा लगाकर अपने जाल में फंसाया। इंटरनेट मीडिया पर बात कर नाबालिग को अपने साथ ले जाने के लिए तैयार किया। युवक कतर से हवाई यात्रा कर 18 जून को दिल्ली पहुंचा और फिर वहां से दौसा जिले के बांदीकुई में नाबालिग से मिला। उसको अपने साथ लेकर चला गया। इस बीच, नाबालिग के स्वजनों ने उसके लापता होने की पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाई। जांच करते हुए पुलिस ने दोनों को शुक्रवार देर शाम बिहार के दरभंगा में पकड़ लिया। वह नाबालिग को नेपाल लेकर जाना चाहता था।

मोबाइल गेम के दौरान हुई दोस्ती

पुलिस के अनुसार, दरभंगा से इजराइल नदाफ नामक युवक को गिरफ्तार कर नाबालिग को बरामद किया था। पुलिस के अनुसार, आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली नाबालिग के लापता होने को लेकर स्वजनों द्वारा दर्ज करवाई गई रिपोर्ट के आधार पर जांच की गई। जांच में पता चला कि नाबालिग मोबाइल पर फ्री फायर गेम खेलती थी। इस पर पुलिस ने फ्री फायर गेम से जुड़ी इंस्टाग्राम आईडी की साइबर सेल से जांच करवाई। नाबालिग गेम के जरिए बार-बार इंस्टाग्राम पर जुड़ रही थी। यह आईडी इजराइल की थी। पुलिस ने आईडी को ट्रैक किया। जांच में पाया कि इंस्टाग्राम आईडी से जुड़ा मोबाइल नंबर खाड़ी देश कतर में वेरिफाई है। 19 जून को इंस्टाग्राम आईडी भारत में इंटरनेट से जुड़ी है। पुलिस ने संदिग्ध मोबाइल नंबर को ट्रैक किया तो सामने आया कि दिल्ली से सिम खरीदा गया है। लोकेशन की जांच में पता चला कि मोबाइल पहले बांदीकुई, फिर दिल्ली और फिर बिहार के सड़क मार्ग पर सक्रिय था। पुलिस लोकेशन को देखते हुए दरभंगा तक पहुंची। वहां इजराइल को नाबालिग के साथ बस स्टैंड पर खड़े हुए पकड़ लिया गया।

दौसा के पुलिस अधीक्षक राजकुमार गुप्ता ने बताया कि कतर से दिल्ली पहुंचते ही इजराइल की सिम बंद हो गया। इस पर उसने फर्जी दस्तावेज से दिल्ली में एक सिम खरीदा और इंस्टाग्राम की आईडी से कनेक्ट कर लिया। इसके बाद वह दौसा जिले के बांदीकुई पहुंचा। रात में बांदीकुई रेलवे स्टेशन पर ही रहा। अगले दिन नाबालिग को रेलवे स्टेशन पर बुलाया और फिर अपने साथ लेकर चला गया। इराजइल के पास जाने से पहले नाबालिग ने अपने भाई को दुकान से कुरकुरे लेने जाने की बात कही। गुप्ता ने बताया कि इजराइल कतर में अल जबेर इंजीनियरिंग कंपनी में मजदूरी करता है। वह नेपाल के धुनषा जिले में धनुजी का मूल निवाी है। मामले की आगे जांच की जा रही है।

Edited By: Sachin Kumar Mishra