उदयपुर, सुभाष शर्मा। शहरी निकाय चुनाव में तीस फीसदी सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित हैं लेकिन उदयपुर में अपना पार्षद चुनने में महिलाओं की भागीदारी पुरुषों के मुकाबले महत्वपूर्ण है। सत्तर वार्डों की नगर निगम में यूं तो पुरुष मतदाताओं के मुकाबले महिला मतदाताओं की संख्या लगभग दो हजार कम है। किन्तु इनमें से आधे से अधिक वार्डों में महिला मतदाता पुरुष मतदाताओं के मुकाबले कहीं ज्यादा हैं।

यहां महिला मतदाता तय करेंगी कौन होगा पार्षद

उदयपुर नगर निगम के अनुसार सत्तर सीटों वाले निकाय में आधे से अधिक वार्डों में महिला मतदाताओंं की संख्या ज्यादा हैं।  उदयपुर नगर निगम के मतदाताओं के जारी आंकड़े के अनुसार यहां पुरुष मतदाताओं की संख्या एक लाख 74 हजार 321 है, जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 1 लाख 72 हजार 68 हैं। इस तरह यहां पुरुष मतदाता महिलाओं के मुकाबले दो हजार से अधिक हैं लेकिन वार्ड वार स्थिति देखी जाएं तो महिला मतदाता पुरुष मतदाताओं के मुकाबले भारी पड़ती नजर आती हैं।

उदयपुर नगर निगम के सत्तर वार्डों में 41 वार्डों में महिला मतदाताओं की संख्या पुरुषों से कहीं अधिक है। वहीं तीन वार्ड ऐसे हैं जहां महिला और पुरुष मतदाताओं की संख्या समान हैं। बूथवार स्थिति देखी जाएं तो उदयपुर नगर निगम में 323 बूथों पर इस बार मतदान होंगे, जिनमें से महज 149 बूथों पर ही पुरुष मतदाता महिलाओं के अपेक्षा अधिक हैं। जिन वार्डों में महिला मतदाताओं की संख्या पुरुषों के मुकाबले खासी है, उनमें वार्ड एक, दो,

चार, छह, दस, ग्यारह, तेरह, चौदह, बाइस, उन्तीस, तीस, इकतीस, छत्तीस, चवालीस, पैंतालीस, सैंतालीस, पचास, इक्यावन, छप्पन, इकसठ, छियासठ, सरसठ में खासी है, जबकि एक दर्जन से अधिक वार्डों में महिला मतदाता इकाई की संख्या में पुरुषों के मुकाबले अधिक हैं।

मुस्लिम बहुल इलाकों में महिला मतदाताओं की संख्या सर्वाधिक

मतदाताओं को लेकर जारी आंकड़े से जाहिर होता है कि जिन इलाकों में महिला मतदाताओं की संख्या पुरुष मतदाताओं के मुकाबले कहीं अधिक हैं, सभी मुस्लिम बहुल आबादी से जुड़े हैं। इस तरह जिन 41 वार्डों में महिला

मतदाता हैं, उनमें से आठ वार्ड मुस्लिम बहुल हैं और सभी में अन्य वार्डों की तुलना में ज्यादा मतदाता हैं। 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप