जयपुर, राज्य ब्यूरो। Rajasthan Panchayat Election 2020. राजस्थान में पंचायत चुनाव के पहले चरण के लिए शुक्रवार को अच्छी सर्दी के बावजूद लोगों ने उत्साह से मतदान किया। छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान आमतौर पर शांतिपूर्ण रहा। शुरुआती अनुमान के अनुसार पहले चरण में करीब 80 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले। मतदान के तुरंत बाद मतगणना भी शुरू हो गई, नतीजे देर रात तक आते रहे। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सर्दी और बारिश के बावजूद मतदान कराने के लिए ट्वीट कर काम के प्रति समर्पित मतदानकर्मियों की तारीफ की। अब शनिवार को इन सभी पंचायतों में उपसरपंच का चुनाव होगा।

राजस्थान में पंचायत चुनाव के पहले चरण में शुक्रवार को 2726 ग्राम पंचायतों के सरपंच और 26800 वार्डो के पंच चुनने के लिए वोट डाले गए। शुक्रवार को सुबह आठ बजे से शुरू हुआ मतदान शाम पांच बजे तक चला। प्रदेश में ग्रामीण इलाकों में सर्दी वैसे भी ज्यादा रहती है, इसके बावजूद ग्रामीणों ने बढ़-चढ़कर मतदान किया। शुरुआती दो घंटों में मतदान कुछ धीमा रहा और करीब आठ प्रतिशत वोट पड़े, लेकिन दिन चढ़ने के साथ ही मतदान प्रतिशत भी बढ़ता गया। दोपहर तीन बजे तक 55 प्रतिशत वोट पड़ चुके थे और शाम पांच बजे तक करीब 80 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले थे। स्थानीय स्तर का चुनाव होने के कारण एक-एक वोट कीमती था। यही कारण रहा कि मतदान के लिए प्रत्याशियों ने भी पूरा जोर लगा रखा था। गांव के वे लोग जो बाहर चले गए हैं, उन्हें भी मतदान के लिए बुलाया गया और आसपास के शहरों तक प्रत्याशियों की गाडि़यां दौड़ती नजर आई।

पहली बार ईवीएम से चुने गए सरपंच

राजस्थान में पहली बार ईवीएम से सरपंच का चुनाव हुआ। प्रथम चरण के चुनाव में 11 हजार से ज्यादा ईवीएम मशीनों का उपयोग हुआ। दो मतदानकर्मियों की मौत: करौली में ड्यूटी पर जा रहे मतदानकर्मी रामसिंह की अचानक तबीयत बिगड़ने से मौत हो गई। इसी तरह, भीलवाड़ा के बिजोलिया के लक्ष्मीखेड़ा मतदान केंद्र पर नियुक्त सहायक मतदान अधिकारी रतनलाल बुनकर की शुक्रवार सुबह तबीयत खराब होने से मौत हो गई। ये नजारे भी दिखे भरतपुर जिले के बमनवाड़ी में लोगों को बारिश के कारण भरे पानी के बीच मतदान करना पड़ा। वहीं दीदावली पोलिंग बूथ पर महिलाएं गीत गाते हुए मतदान करने पहुंचीं।

सीकर जिले के नीमकाथाना में पुराना बास गांव में 97 साल की विद्या देवी भी सरपंच पद के लिए मैदान में थी। उन्होंने छड़ी के सहारे गांव में घूम-घूमकर वोट मांगा। सीकर जिले के अजीतगढ़ पंचायत समिति के पीथलपुर ग्राम पंचायत के मतदान केंद्र पर एक मतदाता ने पुलिसकर्मी से मारपीट कर दी। पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर लिया है। कोटा जिले में आरामपुरा ग्राम पंचायत के भोजपुरा गांव में ग्रामीणों ने बंदरों और नीलगाय की समस्या का समाधान नहीं होने के कारण मतदान का बहिष्कार किया।

यह भी पढ़ेंः गांव की सरकार चुनने के लिए पहले चरण का मतदान

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस