जयपुर, जेएनएन। राजस्थान में विधानसभा की दो सीटों खींवसर और मंडावा के लिए सोमवर को मतदान हुआ। खींवसर में ज्यादा से कम मतदान हुआ, वहीं मंडावा में मतदान के प्रति लोगों में उत्साह नजर आया। दोनों ही जगह मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा।

राजस्थान में नागौर की खींवसर सीट से विधायक बने हनुमान बेनीवाल और झुंझुनूं की मंडावा सीट से विधायक बने नरेन्द्र खींचड लोकसभा चुनाव में सांसद चुन लिए गए थे, इसके चलते इन सीटों पर उपचुनाव कराना पड़ा। सोमवार को दोनों सीटों पर मतदान हुआ। यह चुनाव भाजपा ने राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के साथ गठबंधन कर लड़ा है। खींवसर सीट से हनुमान बेनीवाल के भाई नारायण बेनीवाल तथा मंडावा सीट से भाजपा की सुशीला देवी चुनाव मैदान में थे, वहीं कांग्रेस की ओर से खींवसर सीट पर पूर्व मंत्री हरेन्द्र मिर्धा और मंडावा सीट से पूर्व विधायक रीटा चैधरी मैदान में थी।

दोनों सीटों पर मतदान का प्रतिशत उम्मीद से कम रहा। खींवसर में तो इसे काफी कम माना जा रहा है, क्योंकि नागौर राजस्थान में राजनीतिक रूप से काफी जागरूक जिला माना जाता है और खींवसर सीट पर हनुमान बेनीवाल और नागौर के पुराने राजनीतिक परिवार मिर्धा परिवार की प्रतिष्ठा दांव पर थी। इसके बावजूद यहां 5.30 बजे तक 60.36 प्रतिशत ही मतदान हुआ था। यहां मतदान की गति शुरुआत से ही धीमी रही। पहले एक घंटे में यहां सिर्फ 8.26 प्रतिशत वोट पड़े थे। इसके बाद 11 से तीन बजे तक मतदान अच्छा हुआ और आंकड़ा 49 प्रतिशत तक जा पहुंचा, लेकिन अंतिम तीन घंटे में यह आंकड़ा मुश्किल से 11-12 प्रतिशत ही बढ़ा, यहां लोगों में मतदान के प्रति उत्साह में कमी ने परिणाम के रोचक होने की संभावना बढ़ा दी है।

वहीं, झुझुनूं की मंडावा सीट पर मतदान खींवसर के मुकाबले अच्छा हुआ। यहां साढ़े पांच बजे 67 प्रतिशत वोट पड़े थे। यहां सुबह के पहले एक घंटे में 10.26 प्रतिशत वोटिंग हुई और इसके बाद यहां भी सुबह 11 बजे से दोपहर तक तीन बजे तक अच्छा मतदान हुआ। इस क्षेत्र में महिलाओं की अच्छी कतारें देखी गईं। दोनों जिलों के 525 मतदान केंद्रों पर मतदान हुआ। मतदान के दो दिन बाद यानी 24 अक्टूबर को मतगणना होगी।

नागौर जिले की खींवसर विधानसभा सीट पर कुल 2,50,155 मतदाताओं को मतदान करना था, वहीं झुंझुनूं की मंडावा विधानसभा क्षेत्र में कुल 2,27,414 मतदाताओं को मतदान करना था। मतदान के दौरान विधानसभा क्षेत्रों में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। दोनों क्षेत्रों में केंद्रीय सुरक्षा बलों की आठ-आठ कंपनियां तैनात की गई थीं।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप