जयपुर, जेएनएन। Rajasthan Gram Panchayat Election 2019 राजस्थान में तीन नगर निगम समेत कुल 49 नगरीय निकायों के लिए मतदान जारी है। नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया और कांग्रेस नेता गिरिजा व्यास ने भी उदयपुर में मतदान किया। राज्य चुनाव विभाग के अनुसार, मतदान सुबह 7 बजे शुरू हुआ और शाम 5 बजे तक जारी रहेगा। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार नगर निगम उदयपुर में 25 प्रतिशत मतदान और कानोड़ नगरपालिका में 56 प्रतिशत मतदान हुआ है। मतों की गिनती 19 नवंबर को होगी।

राजस्थान में आज 33 लाख से अधिक मतदाता आज अपने वोट का प्रयोग कर रहे हैं। इन मतदाताओं में आधे मतदाता 21 से 40 वर्ष के हैं। उदयपुर में कांग्रेस नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री डा. गिरिजा व्यास ने वोट डालकर कहा कि हमारी जीत तय है, भाजपा से जनता अब उकता चुकी है। उदयपुर का हैरीटेज स्वरूप बिगाड़कर बजट का दुरुपयोग किया गया है। नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने उदयपुर में अपने पूरे परिवार के साथ मतदान किया। मतदान शांतिपर्ण तरीके से हो रहा है । 

सुबह से हो रहे शांतिपूर्ण मतदान के बीच उदयपुर के वार्ड नंबर 50 में हंगामा हाेने की खबर आयी थी, जिसके बाद मतदान को कुछ समय के लिए रोक दिया गया था। चुनावों के लिए पर्यवेक्षकों को भी नियुक्त किया गया है। इन पर्यवेक्षकों ने गुरुवार को ही अपने-अपने नियुक्ति वाले स्थानों पर पहुंचकर मोर्चा संभाल लिया था।

 निर्वाचन विभाग के अनुसार 17.05 लाख पुरुष और 16.01 लाख महिलाओं सहित कुल 33.69 लाख मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं। स्थानीय निकायों के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव क्रमशः 26 और 27 नवंबर को होगा। मतों की गिनती 19 नवंबर को होगी। 

2105 वार्डों के लिए 7944 प्रत्याशी चुनाव मैदान में 

इन निकायों के करीब 33 लाख मतदाता 2105 वार्डों में स्थानीय प्रतिनिधि चुनने के लिए वोट डाल रहे हैं। चुनावशांति पूर्ण हो रहा है। सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए गये हैं, संवेदनशील मतदान केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरों से नजर रखी जा रही है।  राजस्थान में इन निकायों के 2105 वार्डों के लिए 7944 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। 

संवेदनशील मतदान केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरों से नजर रखी जा रही है। राज्य चुनाव आयोग ने करीब 867 संवेदनशील मतदान केंद्र और 42 अति संवेदनशील मतदान केंद्र चिन्हित किए हैं। भरतपुर में सबसे अधिक 114 संवेदनशील मतदान केंद्र चिन्हित किए गए हैं, जबकि जालौर में एक भी संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केंद्र चिन्हित नहीं किया गया है। 

गौरतलब है कि राजस्थान में कुल 195 नगरीय निकाय हैं, लेकिन इनके चुनाव अलग-अलग समय पर किए जाते हैं। चुनाव के पहले चरण में तीन नगर निगमों बीकानेर, उदयपुर और भरतपुर समेत नगरीय निकायों में चुनाव होने जा रहे हैं। ये चुनाव राज्य में 49 निकाय के 24 जिलों में हैं। राजस्थान में अक्टूबर में हुए उपचुनाव के बाद इन चुनावों को राजनीतिक दृष्टि से काफी अहम माना जा रहा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट सहित सरकार के लगभग दस मंत्रियों की प्रतिष्ठा इन चुनावों से जुड़ी हुई है। 

इन निकायों पर हो रहा है मतदान

पुष्कर, जैसलमेर, भरतपुर, ब्यावर, प्रतापगढ़, रावतभाटा, नसीराबाद, अलवर, भिवाड़ी, थानागाजी, बांसवाड़ा, मांगरोल, बाड़मेर, गंगानगर, रूपबास, बीकानेर, चित्तौडग़ढ़, थानागाजी, चुरू, राजगढ़, बालोतरा, निम्बाहेड़ा, रावतभाटा, भीनमाल, जालौर, बिसाऊ, पाली, मकराना, पाली, सुमेरपुर, आमेट , सिरोही, टॉक, कॉनोड़ उदयपुर, हनुमानगढ़, पिलानी, झुंझुनू, महुवा, जालौर, बिसाऊ, फलौदी, कैथून, सांगोद, डीडवाना, नाथद्वारा, नीम का थाना, खाटूश्यामजी, माउंट आबू, पिंडवाड़ा, शिवगंज।

राजस्थान की अन्य खबरें पढऩे के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप