जयपुर, नरेन्द्र शर्मा। राजस्थान विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में शनिवार को बनाई गई रणनीति के तहत मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की "सुराज गौरव यात्रा"4 अगस्त से शुरू होगी । यात्रा का आगाज उदयपुर संभाग के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल चारभुजानाथ से होगा। यात्रा की शुरुआत के मौके पर आयोजित होने वाली रैली में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह मौजूद रहेंगे।

वहीं सितम्बर के दूसरे सप्ताह में समापन के दौरान होने वाली जनसभा को पीएम नरेन्द्र मोदी संबोधित करेंगे। यात्रा के दौरान केन्द्र सरकार के मंत्री और वरिष्ठ नेता भी अलग-अलग स्थानों पर शामिल होंगे। रविवार को मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे,भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी ने वरिष्ठ मंत्रियों और नेताओं के साथ यात्रा के कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया।

40 दिन में 200 क्षेत्र तक पहुंचने का लक्ष्य

सीएम वसुंधरा राजे की "सुराज गौरव यात्रा"40 दिन चलेगी। यात्रा के जरिये प्रदेश के सभी 200 विधानसभा क्षेत्र तक वसुंधरा राजे पहुंचने कोशिश करेगी। यात्रा के दौरान पार्टी केंद्र और राज्य सरकार की उपलब्धियों गिनाकर आम मतदाता के बीच अपनी छवि चमकाने की कोशिश करेगी। इसके साथ ही पार्टी का प्रचार तंत्र आक्रामक होगा। इसके जरिये हर वर्ग को छूने की कोशिश रहेगी।

उपलब्धियों को दिखाने वाला विशेष रथ बनेगा

सीएम राजे की सुराज गौरव यात्रा के लिए विशेष रथ बनेगा। इस पर केंद्र व राज्य सरकार की उपलब्धियां प्रदर्शित होगी। उदयपुर संभाग से यात्रा शुरू होगी तो अमित शाह इसमें शामिल होंगे, वहीं समापन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पहुंचेंगे अर्थात यानि पार्टी आलाकमान के लिए राजस्थान का चुनाव लोकसभा चुनाव को देखते हुए बहुत महत्वपूर्ण हो गया है।  

Posted By: Preeti jha