जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान में विधानसभा चुनाव के लिए अब कुछ ही दिनों का समय बाकी बचा है । ऐसे में राज्य की भाजपा सरकार नाराज समाजों को खुश करने में जुट गई है।

सरकार ने पिछले एक माह में 654 राजनीतिक मुकदमें वापस लेकर नाराज चल रहे राजपूत और गुर्जर समाज के साथ ही व्यापारी वर्ग को खुश करने का प्रयास किया है।

सरकार ने 2 अप्रैल को भारत बंद के दौरान हिंसा और तोड़फोड़ को लेकर दलितों के खिलाफ दर्ज 300 मामले वापस लेने के साथ ही विभिन्न चरणों में हुए गुर्जर आरक्षण आंदोलन के दौरान दर्ज हुए 236 मामलों को भी वापस लिया गया है।

गैंगस्टर आनंदपाल सिंह एनकाउंटर के बाद राजपूत समाज द्वारा सरकार के खिलाफ किए गए आंदोलन के दौरान दर्ज हुए कुल 21 में से 13 मामले वापस लिये गए है। विभिन्न मामलों में व्यापारियों के खिलाफ दर्ज 105 मामले भी वापस लेने का फैसला किया गया है। राज्य के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया का कहना है कि जांच पूरी होने के बाद ही मुकदमें वापस लेने का निर्णय हुआ है।  

Posted By: Preeti jha