जयपुर , जागरण संवाददाता। बाघिन मछली एक बार फिर चर्चा में है । राजस्थान के वन एवं पर्यावरण मंत्री गजेन्द्र सिंह खींवसर ने बाघिन मछली को पर्यटन से जोड़ने की पहल की है । मछली को लेकर टाइगर टूरिज्म और कंजर्वेशन की योजना बनाई जा रही है । जिस स्थान पर मछली का अंतिम संस्कार हुआ,वहां मेमोरियल बनाने के आदेश खींवसर ने दिए हैं ।

उल्लेखनीय है कि मछली के जीन पूल के 30 से अधिक बाघ रणथंभौर की शान है । इनकी बदौलत देश-दुनिया में रणथम्भौर और सरिस्का आबाद हो सका । खींवसर का कहना है कि मछली का स्मारक पर्यटकों को बाघों के महत्व की याद दिलाता रहेगा । खींवसर ने बताया कि राज्य सरकार मुकंदरा अभयारण्य में मार्च से बाघ भेजने के साथ सरिस्का पार्क को आबाद करने पर केन्द्र की मदद से काम करेगी । 

टाइगर वर्ल्ड की मछली एक बार फिर उसकी फिल्म से चर्चा में है। रणथंभौर आए केंद्रीय वन मंत्री हर्षवर्धन ने भी फिल्म की तारीफ में ट्वीट किया। उनके साथ रणथंभौर पहुंचे प्रदेश के वन मंत्री गजेंद्र खींवसर ने मछली को श्रद्धांजलि देते हुए इसे टूरिज्म से जोड़ने की पहल की। खींवसर ने मछली की यादों को टाइगर टूरिज्म और कंजर्वेशन के काम लेने की प्लानिंग की है। उन्होंने आदेश दिए हैं कि जहां मछली का अंतिम संस्कार हुआ वहां मेमोरियल बनेगा। 

मछली के जीन पूल के 30 से ज्यादा बाघ रणथंभौर की शान हैं। इनकी बदौलत देश-दुनिया में न केवल रणथंभौर बल्कि बाघ विहीन सरिस्का को फिर से आबाद किया जा सका। मछली का स्मारक पर्यटकों को बाघों के महत्व की याद दिलाता रहेगा। इसके लिए तुरंत शुरू करने के आदेश हैं। रणथंभौर में इसके लिए प्लानिंग भी शुरू हो चुकी है। फील्ड डायरेक्टर वाईके साहू ने बताया मेमोरियल में मछली के उस दृश्य जीवंत करने की प्लानिंग है, जहां वो पार्क के बीच एक छतरी के नीचे बैठा करती थीं। 

रणथंभौर की सबसे ज्यादा चर्चित रही बाघिन मछली टी 16 का अंतिम संस्कार रणथंभौर अभयारण्य की सीमा पर स्थित वन विभाग की आमा घांटी चौकी के पीछे पूरे सम्मान के साथ किया गया था।जिस तरह से दुनिया में ‘मछली’ को लेकर बाघ प्रेमियों का प्यार है, हम चाहते हैं बाघ संरक्षण और टूरिज्म की दिशा में संदेश दें। इसके लिए स्मारक बनवा रहे हैं। सरकार मुकंदरा में अगले माह तक बाघ भेजने के साथ सरिस्का पार्क को आबाद करने पर केंद्र की मदद से काम कर रही है।

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस