जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान के भीलवाड़ा जिले में भीलों की झोंपड़ियां गांव के स्कूल में दो दिन पूर्व रात में चोर घुस गए। यहां कीमती सामान नहीं मिला तो चोरों ने स्कूल का रिकॉर्ड और प्रधानाध्यापक की कुर्सी जला दी। स्कूल से जाने से पहले चोरों ने बोर्ड पर लिखा, 'सरकार नौकरी नहीं दे रही है, इसलिए चोरी कर रहे है।

हम झोपड़िया गांव के ही है।' इस स्कूल को आसींद पुलिस थाने ने गोद ले रखा है और थाना प्रभारी राजकुमार नायक सप्ताह में एक बार स्कूल आते रहते है। अस्थाई प्रधानाध्यापक राजेंद्र कुमार सेन ने बताया कि भीलों की झोपड़िया के राजकीय प्राथमिक विद्यालय में सिर्फ एक शिक्षिका गुड़िया मीणा है।

स्कूल राष्ट्रीय राजमार्ग से कुछ दूर स्थित है। इस कारण पहले भी कई बार यहां चोरी की वारदात हो चुकी हैं। शिक्षिका गुड़िया ने बताया कि तीन साल में बार-बार चोरी की वारदातों से वह सहम चुकी है।

अब एक महीने में 5वीं बार चोरी हुई है। बदमाश स्कूल में घुसते हैं, लेकिन यहां उन्हें सिर्फ गैस सिलेंडर और पोषाहार सामग्री के अलावा कुछ नहीं मिलता।  

Posted By: Preeti jha