उदयपुर, जागरण संवाददाता। महाराणा प्रताप के गौरव स्थलों में जुड़े हल्दीघाटी में बनाए गए राष्ट्रीय स्मारक में स्थापित महाराणा प्रताप की प्रतिमा पर कुछ युवकों के छेड़खानी का वीडियो सामने आया है। वीडियो वायरल होने पर क्षेत्रीय संस्थानों ने इन युवकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की तो आरोपित युवकों ने एक और वीडियो जारी किया है, जिसमें वह माफी मांगते हुए नजर आ रहे हैं। बताया गया कि युवक बाड़मेर के हैं और ये लोग राजसमंद जिले में हल्दीघाटी जहां महाराणा प्रताप का राष्ट्रीय स्मारक है, उसमें लगी महाराणा प्रताप की प्रतिमा पर जा चढ़े। नाचते तथा प्रतिमा का अनादर करते हुए दिखाई दे रहे ये युवक पिछले दिनों हल्दीघाटी घूमने आए थे और महाराणा प्रताप की प्रतिमा पर जा चढ़े। यही नहीं उनमें से एक युवक प्रताप की प्रतिमा के कंधे पर जा चढ़ा, जबकि दूसरा उनके आगे चेतक घोड़े पर चढ़ा हुआ है। तीसरा युवक प्रतिमा के स्टैण्ड पर नाच रहा है।

इस घटना का वीडियो वायरल होने पर खमनौर क्षेत्र के जय मेवाड़ नवयुवक मंडल व जय हल्दीघाटी नवयुवक मंडल के कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री, पुलिस महानिदेशक तथा जिला कलेक्टर के नाम खमनौर के तहसीलदार को ज्ञापन देकर आरोपित युवकों की पहचान कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की।

उन्होंने प्रतिमा की सुरक्षा बढ़ाने की मांग की है। उनका कहना है कि इन युवकों के बारे में पड़ताल की तो पता चला कि ये युवक बाड़मेर जिले के हैं और पिछले दिनों यहां घूमने आए थे। चार युवकों में तीन युवक प्रतिमा पर जा चढ़े जबकि चौथे ने उनका वीडियो बनाया। सामाजिक कार्यकर्ता हेमन्तसिंह मोजावत, जय हल्दीघाटी नवयुवक मंडल अध्यक्ष चेतन पंवार के साथ सैकड़ों लोगों ने इस मामले में कड़ी कार्रवाई की मांग की है। इस बीच युवकों का एक और वीडियो सामने आया है, जिसमें वह अपनी करतूत के लिए माफी मांगते हुए नजर आ रहे हैं।

हल्दीघाटी, जहां महाराणा प्रताप और अकबर के बीच हुआ था युद्ध

हल्दीघाटी का युद्ध 18 जून 1576 को मेवाड़ के महाराणा प्रताप और मुगल सम्राट अकबर की सेना के बीच लड़ा गया था। नए शोध के आधार पर प्रमाणित हुआ है कि इस युद्ध में महाराणा प्रताप की जीत हुई थी। हल्दीघाटी में महाराणा प्रताप से जुड़ा राष्ट्रीय स्मारक और म्यूजियम बना हुआ है, जहां हर दिन कई पर्यटक पहुंचते हैं।

Edited By: Shashank_Mishra