जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान में दौसा दौसा जिले के बांदीकुई में स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल भांवता-भांवती में में मिड-डे मील के पोषाहार में छात्रों ने रोटी मांगी तो प्रधानाध्यापक ने बच्चों को मुर्गा बनाकर डंडो से पिटाई कर दी। इससे छात्रों को गंभीर चोटें आईं हैं।

7 छात्रों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। वहीं घटना से गुस्साए ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर से लिखित शिकायत की है। छात्रों ने बताया कि उनके स्कूल में पोषाहार में सिर्फ दाल दी गई। बच्चों ने रोटी मांगी तो उन्हें रोटी नहीं दी गई। इस पर बच्चों ने शिकायत गांव के सरपंच से कर दी। इससे प्रधानाध्यापक कैलाश गुप्ता नाराज हो गए और उन्होंने बच्चों की बेरहमी से पिटाई कर दी।

सरपंच से शिकायत करने से प्रधानाध्यापक इतने नाराज हुए कि उन्होंने छात्रों को स्कूल में रोज डराना और  धमकी देना शुरू कर दिया। सोमवार को तो बच्चों को मुर्गा बनाकर डंडे से पिटाई की। इससे हमारे पैर,हाथ और शरीर पर कई जगह चोट आई। इस मामले में शिक्षामंत्री वासुदेव देवनानी और शिक्षा सचिव नरेश पाल गंगवार ने दौसा जिला कलेक्टर नरेश शर्मा से रिपोर्ट मांगी है ।

सरपंच बोले,पिटाई करना गलत

स्कूल में बच्चों को पोषाहार में रोटी नहीं मिलने की शिकायत लेकर ये बच्चे मेरे पास आए थे। इस मामले में मैंने कार्रवाई का आश्वासन दिया था। शिकायत को लेकर प्रिंसीपल का पिटाई करना गलत है।  

Posted By: Preeti jha