अजमेर, (जेएनएन)। पवित्र रमजान माह की शुरुआत सोमवार सायं चांद दिखाई देने की घोषणा के साथ ही हो गई। सूफी संत ख्वाजा साहब की दरगाह सहित जिले भर की मस्जिदों में विशेष तराबी की नमाज अदा की गई। तराबी की नमाज एक माह तक अदा की जाएगी। इसी के साथ मंगलवार को मुस्लिम परिवारों में रोजा रखा गया।

मुस्लिम कलैंडर के अनुसार वर्ष में एक माह रमजान का आता है, जिसमें अल्लाह के लिए विशेष इबादत की जाती है तथा पूरे माह में मुस्लिम धर्म के मानने वाले रोजा रखते हैं। साथ ही मस्जिदों में विशेष नमाज अदा की जाती है। सोमवार सायं शहर काजी तौसिफ अहमद सिद्दीकी ने चांद दिखाई देने की घोषणा की। इसी के साथ बड़े पीर की पहाड़ियों से तोप के गोले दागे गए।

ख्वाजा साहब की दरगाह में शादियाने बजाए गए। इदारा दावत उल हक संस्था के प्रमुख मौलाना अयूब कासमी ने बताया कि जिले भर में रमजान माह की शुरुआत चांद दिखाई देने की घोषणा के साथ ही हो गई।

उन्होंने बताया कि पवित्र कुरान शरीफ रमजान माह में तराबी की नमाज में मुकम्मल किया जाता है। इस नमाज की बड़ी बरकतें रहती है। सोमवार देर रात्रि रोजा रखने के लिए सहरी का परिवारों में आयोजन किया गया।यह सिलसिला पूरे माह तक चलेगा। मंगलवार सायं 7.20बजे रोजा इफ्तार किया जाएगा। मस्जिदों में रोजेदारों के लिए इफ्तार की व्यवस्था रहेगी।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Preeti jha