जयपुर, [जागरण संवाददाता] । राजस्थान में श्रीगंगानगर जिले की सादुलशहर तहसील में एक मां ने बेटे की चाह में 11 बेटियों को जन्म दे दिया । इनमें से दो बेटियों का विवाह हो चुका और उनके बच्चे भी है । मन्नी देवी नाम की इस महिला ने गुरूवर रात सादुलशहर के एक अस्पताल में 11वीं बेटी को जन्म दिया ।

जानकारी के अनुसार मन्नी देवी का विवाह रामप्रताप के साथ वर्ष 1991 में हुआ  था । विवाह के दो वर्ष बाद उनके एक बेटी हुई और फिर दूसरी बेटी हो गई । तीन वर्ष के अंतराल में दो बेटियां होने के बाद रामेश्वर और मन्नीदेवी ने बेटे की चाह में तांत्रिकों और बाबाओं के चक्कर लगाना शुरू कर दिया । बाबाओं द्वारा बताए अनुसार  उन्होंने  पूजा-पाठ करवाने के साथ ही दवा भी ली । लेकिन बार-बार बेटी  होती गई,लेकिन दोनों पति-पत्नी बेटे की चाह में नसबंदी कराने को  तैयार नहीं हुए ।

परिजनों और ग्रामीणों ने उन्हे समझाने का काफी प्रयास भी किया । इस बार  फिर गुरूवार दोपहर मन्नी देवी  को प्रसव पीड़ा हुई तो उसे सादुलशहर अस्पताल में भर्ती कराया गया,जहां उसने रात करीब 9 बजे फिर एक बेटी को जन्म दिया । इस तरह अब तक उनके 11 बेटी हो चुकी । रामप्रताप का कहना है कि बाबाओं ने उसे पक्का विश्वास दिलाया था कि इस बार तो लड़का ही होगा,लेकिन फिर लड़की हुई । हालांकि वह अभी भी नसबंदी कराने को तैयार नहीं है । 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस