जयपुर, जेएनएन । राजस्थान के बाडमेर जिले के चैहटन में बेटे ने पिता की हत्या कर दी। शराबी बेटा चाहता था कि पिता ने जमीन बेचकर उसकी शादी करा दे, लेकिन पिता ने नहीं मानी तो बेटे ने पीट पीट कर उसकी हत्या कर दी।

पुलिस के अनुसार, दूधवा निवासी मंगलाराम अपने तीन बेटों में से सबसे छोटे आसूराम के साथ रहता था। मंगलराम के पास करीब 300 बीघा जमीन है। पिछले 3 साल से आसूराम पिता से उसके हिस्से की जमीन बेचकर शादी कराने की बात कह रहा था। इस बात को लेकर मारपीट और गालीगलौच भी करता था। आसू शराबी है और कुछ कमाता भी नहीं है इसलिए पिता शादी कराने को तैयार नहीं हो रहा था।

रविवार रात को आसूराम नशे में घर आया और फिर इसी बात को लेकर दोनों में झगडा हुआ। इसी बीच उसने लाठी-डंडों से हमला कर दिया। मारपीट में पिता की मौत हो गई। मां बचाव करने पहुंची तो उनसे भी मारपीट की। शोर सुनकर ग्रामीण पहुंचे तो आरोपी घर से 200 मीटर दूर छिप गया। लोगों ने उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। अब पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

सुनवाई नहीं होने पर पुलिस अधीक्षक कार्यालय में जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास

जानकारी के अनुसार राजस्थान के कोटा ग्रामीण पुलिस अधीक्षक कार्यालय में सोमवार को एक युवक ने जहर खाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया। अचानक हुए इस घटनाक्रम से पुलिस अधीक्षक कार्यालय में हड़कंप मच गया। युवक को कोटा के एम.बी.एस जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया,जहां उसका इलाज चल रहा है। शहर में चारों तरफ इस घटनक्रम की चर्चा होने के बाद किसी अनहोनी की आशंका को देखते हुए अस्पताल के बाहर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किए गए।

जानकारी के अनुसार कोटा जिले के घगटाना गांव निवासी गिरिराज पिछले तीन माह से पुलिस थाने से लेकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय तक चक्कर लगा चुका,लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हुई। आखिरकार परेशान होकर उसने सोमवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास किया। गिरिराज का आरोप है कि उसके बड़े भाई रामदास ने खेती की पूरी जमीन पर कब्जा कर लिया,इस कारण वह काफी परेशान था। इसके लिए वह तीन माह से पुलिस थाने से लेकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय तक चक्कर लगा चुका था,लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हुई।

सोमवार को भी वह पुलिस अधीक्षक से मिलने पहुंचा,लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होने से परेशान होकर उसने जहर खा लिया। वह पहले से अपने साथ सल्फॉस की गोलियां लेकर आया था। घटना के बाद पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पारस जैन सहित अन्य अधिकारियों ने अस्पताल जाकर गिरिराज के स्वास्थ्य की जानकारी ली।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप