जागरण संवाददाता, जयपुर। असम के एक गांव से नाबालिग लड़की को अगवा कर उसे राजस्थान में बेचे जाने का मामला सामने आया है।

मानव तस्करी से जुड़े दो दलालों ने 13 साल की इस लड़की का चुरू में 80 हजार रुपये में सौदा कर दिया। लड़की की तलाश में चुरू पहुंची असम पुलिस ने बुधवार को उसे संरक्षण में लेते हुए इसका खुलासा किया है। चूरू पुलिस ने पिछले सप्ताह ही पीड़ित लड़की को बरामद किया था। पुलिस के अनुसार, दो दलालों ने इस लड़की के साथ एक और लड़की को अगवा किया था, जिसका अभी पता नहीं चला सका है। इस सौदेबाजी के बाद चूरू के गांव लोहसना निवास सुभाष स्वामी ने उससे शादी की और एक महीने तक यौन शोषण किया। असम के कामरूप जिले के नूनमाटी थाना इलाके के शान्तिनगर से अगवा कर चुरू के गांव लोहसना बड़ा में बेची गई 13 साल की नाबालिग बालिका को बुधवार को असम पुलिस ने अपने संरक्षण में लिया है।

इधर, असम पुलिस अब गांव लोहसना के सुभाष स्वामी की तलाश में जुटी है, जिसने इस बालिका को 80 हजार रुपये में खरीदा था। लड़की की तलाश में चूरू पहुंचे असम में नूनमाटी पुलिस थाने के एसआई गौरव ने बताया कि एक महीने पहले लड़की अपने गांव से गुम हो गई थी । गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज होने के बाद तलाश की गई तो दो दलालों ने उसे राजस्थान में बेचने का मामला सामने आया । अब कानूनी कार्रवाई की जा रही है । उन्होंने फिलहाल दोनों दलालों के बारे में भी जानकारी देने से इंकार कर दिया । 

Posted By: Sachin Mishra