जागरण संवाददाता, जयपुर। जयपुर के करधनी इलाके में एटीएम को उखाड़कर लूटने की फिराक में घूम रहे सात बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से पांच अवैध पिस्टल, दो देशी कट्टे समेत पांच जिंदा कारतूस सहित सात अवैध हथियार बरामद कर लिए हैं। आरोपितों से पूछताछ में कई वारदातें खुलने की संभावनाएं है। पुलिस का मानना है कि इस गैंग के पकड़े जाने से हथियारों की तस्करी के गिरोह का नेटवर्क टूटा है।

डीसीपी (पश्चिम) अशोक गुप्ता ने बताया कि सबसे पहले छीतरमल काटवा को पकड़ा गया। वह हत्या के केस में चालानशुदा मुल्जिम है। उसके कब्जे से एक अवैध देशी कट्टा व दो कारतूस बरामद हुए हैं। पूछताछ में उसने कई और बदमाशों के नाम उगले। इस पर पुलिस ने मुकेश जाट, मोहन सिंह उर्फ मोनू, उसका भाई पवन उर्फ पोना, मनोहर उर्फ विक्की मेहरा, जितेंद्र कुमार उर्फ जीतू कुमावत,और हरलाल जाट को गिरफ्तार किया। डीसीपी ने बताया कि मोहन सिंह उर्फ मोना, छीतर काटवा, मुकेश श्योराण, हरलाल ने पूछताछ में बताया कि वे लोग कनकपुरा फाटक के पास एटीएम को तोड़कर लूटने की फिराक में थे।

इसके लिए एटीएम को एक लोहे की चेन से बांधकर पिकअप से खींचने की योजना बनाई। इसके लिए गैंग के साथी मोहन सिंह के भाई पवन उर्फ पोना को किसी चोरी के चौपहिया पिकअप या कैंपर का इंतजाम करने का जिम्मा सौंपा था। इसका इंतजाम नहीं कर पाने से वारदात को अंजाम नहीं दे सके। इन सभी बदमाशों की दोस्ती जेल में बंद रहने के दौरान हुई थी। आरोपित पवन लूट व वाहन चोरी का आदतन बदमाश है। बदमाशों के खिलाफ कई गंभीर मुकदमे दर्ज है। 

Posted By: Sachin Mishra