जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान में कोटा जिले के सांगोद नगरपालिका के चेयरमैन देवकीनंदन राठौड़ को बुधवार सुबह पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पिछले दिनों एक दलित युवक को थप्पड़ मारने और जाति सूचक शब्दों का उपयोग करने के मामले में देवकीनंदन राठौड़ को सांगोद थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया गया है।

इधर, देवकीनंदन राठौड़ की गिरफ्तारी की सूचना मिलते ही सांगोद शहर में उनके समर्थक एकत्रित हो गए और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। देवकीनंदन राठौड़ समर्थकों ने बाजार बंद करा दिए। तनाव को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। दो समुदाय आमने-सामने होने के कारण कोटा से अतिरिक्त पुलिस बल भेजा गया है। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। फिर भी पुलिस स्थिति पर नजर रखे हुए है, ताकि कोई अनहोनी न होने पाए। इस मामले में फिलहाल कोई भी कुछ बोलने के लिए तैयार नहीं है। 

जानें, क्या है मामला

दरअसल, गत पांच अक्टूबर को एक मृत गाय को उठाने को लेकर सांगोद नगरपालिका के चेयरमैन देवकीनंदन राठौड़ और एक ठेकेदार के दलित मजदूर के बीच मुख्य बाजार में बहस हो गई थी। इस दौरान देवकीनंदन राठौड़ ने एक मजदूर को थप्पड़ मारने के साथ ही जाति सूचक शब्दों का उपयोग किया था। इस पर वाल्मीकि समाज के लोग बड़ी संख्या में कस्बे में एकत्रित हो गए और देवकीनंदन राठौड़ से मजदूर व ठेकेदार राजकुमार से माफी मांगने की मांग करने लगे। लेकिन चेयरमैन देवकीनंदन राठौड़ इसके लिए तैयार नहीं हुए। इस कारण पिछले चार दिन तक दोनों पक्षों के बीच विवाद चल रहा था।

इसी बीच, मजदूर और वाल्मीकि समाज के लोगों ने सांगोद नगरपालिका के चेयरमैन देवकीनंदन राठौड़ के खिलाफ सांगोद पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया। पुलिस ने देवकीनंदन राठौड़ के खिलाफ एससी, एसटी एक्ट में मामला दर्ज कर लिया। प्रारंभिक जांच के बाद पुलिस ने देवकीनंदन राठौड़ को बुधवार सुबह गिरफ्तार कर लिया। 

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप