जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान में भरतपुर जिले की तहसील कुम्हेर थाना परिसर में एक रिटायर्ड फौजी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने मारपीट कर उसकी हत्या की है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस महानिरीक्षक मालिनी अग्रवाल, पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत सहित शिव आदि वहां पहुंचे। घटना की सूचना जंगल में आग की तरह फैल गई।

देखते ही देखते हजारों लोगों की भीड़ थाना परिसर के चारों ओर जमा हो गई। ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर पुलिस थाने के बाहर धरना शुरू कर दिया। जानकारी के अनुसार कुम्हेर क्षेत्र के गांव नगला सवाई मानसिंह का रिटायर्ड फौजी 60 वर्षीय प्रहलाद को पुलिस बुधवार रात शराब पीकर हंगामा करने के मामले में थाने में लेकर आ गई। पुलिसकर्मियों ने उसे हवालात में बंद कर दिया। वहां प्रहलाद ने कंबल को फाड़ कर बैरक में फांसी लगा ली।

पुलिस ने बगैर रोजनामचा में रिपोर्ट दर्ज किए बैरक में बंद किया था। बुधवार देर रात 2 बजे प्रहलाद ने संत्री को गाली दी थी और उसके बाद फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना पर के वरिष्ठ अधिकारी पुलिस थाने पहुंचे। उच्चाधिकारियों के पहुंचने पर पुलिस ने प्रहलाद को फंदे से उतारा और उसे जिला अस्पताल लेकर गए जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

परिजन बोले पुलिस ने की हत्या

परिवार वालों का आरोप है कि है प्रहलाद गाय-भैंस चराने खेतों पर गया था। वहां से पुलिस उसे पकड़ ले गई और इसकी हत्या कर दी। गुस्साए ग्रामीणों ने थाने के बाहर रोड जाम कर दिया। इससे पुलिस और ग्रामीण आमने-सामने हो गए। इस मामले में पुलिस अधीक्षक का कहना है कि प्रहलाद ने खुद फांसी लगाई,यह बात प्रारंभिक जांच में सामने आई है। 

Posted By: Preeti jha