अजमेर, (जेएनएन)। festival season train राजस्‍थान रेलवे प्रशासन द्वारा आगामी पूजा व दीवाली त्यौहारी सीजन में यात्रियों की सुविधा के लिए साप्ताहिक स्पेशल रेलसेवा शुक्रवार 4 अक्टूबर से शुरू की जा रही हैं।

रेलवे प्रशासन द्वारा आगामी पूजा व दीवाली त्यौहारी सीजन में अतिरिक्त यात्री यातायात के दबाव को देखते हुए यात्रियों की सुविधा के लिए हैदराबाद, जयपुर, हैदराबाद 09 ट्रिप साप्ताहिक स्पेशल रेलसेवा शुक्रवार 4 अक्टूबर से शुरू की जा रही हैं।

गाडी संख्या 02731, हैदराबाद, जयपुर साप्ताहिक स्पेशल रेल सेवा 4 अक्टूबर से 29 नवम्बर 19 तक 09 ट्रिप हैदराबाद से प्रत्येक शुक्रवार को 16 बजकर 20 बजे रवाना होकर रविवार को 06 बजकर 25 बजे जयपुर पहुचेगी। अजमेर में इस गाड़ी आगमन रविवार को 03 बजकर 05 बजे और प्रस्थान 03 बजकर 15 बजे होगा। भीलवाड़ा में इस गाड़ी का आगमन रविवार को 00 बजकर 30 बजे और प्रस्थान 00 बजकर 35 बजे होगा।

इसी प्रकार गाडी संख्या 02732, जयपुर, हैदराबाद साप्ताहिक स्पेशल रेल सेवा 06 अक्टूबर 19 से 01 दिसम्बर 19 तक 09 ट्रिप जयपुर से प्रत्येक रविवार को 15 बजकर 00 बजे रवाना होकर मंगलवार को 02 बजकर 00 बजे हैदराबाद पहुचेगी। अजमेर में इस गाड़ी आगमन रविवार को 17 बजकर 30 बजे और प्रस्थान 17 बजकर 40 बजे होगा। भीलवाड़ा में इस गाड़ी आगमन रविवार को 19 बजकर 25 बजे और प्रस्थान 19 बजकर 30 बजे होगा।

इस गाडी में 01 सैकण्ड एसी एवं 05 थर्ड एसी 10 द्वितीय शयनयान 03 साधारण श्रेणी एवं 02 पाॅवर कार डिब्बों सहित कुल 21 डिब्बें होंगे। इस रेल सेवा का मार्ग के सिकन्दराबाद, मेडचल, कामारेड्डी, निजामाबाद, धरमाबाद, मुदखेड, नान्देड, पूर्ना, बसमत, हिंगोली, वाषीम, अकोला, मलकापुर, बुरहानपुर, खण्डवा, ईटारसी, भोपाल, उज्जैन, नागदा, रतलाम, मन्दसौर, नीमच, चित्तोड़गढ़, भीलवाड़ा, अजमेर, किशनगढ़ तथा फुलेरा स्टेशनों पर ठहराव होगा। 

निजी यात्री गाड़ी के संचालन पर यूनियन ने जताया कड़ा विरोध

 रेलवे को निजीकरण की ओर धकेलते हुए केन्द्र सरकार द्वारा शुक्रवार को लखनऊ से दिल्ली के मध्य तेजस ट्रेन का संचालन आई.आर.सी.टी.सी. के माध्यम से निजी ऑपरेटर्स के हाथों में सौंपते हुए उसका संचालन आरंभ करने को लेकर अजमेर की विभिन्न यूनियन संगठनों के पदाधिकारियों ने केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और विरोध प्रकट किया। रेलवे के सबसे बड़ा फैडरेशन एआईआरएफ  एवं उसकी यूनियन नॉवेरेएयू ने इसका कड़ा विरोध दर्ज कराया। इसको लेकर रेलों पर प्रदर्शन धरने, रैली निकालकर अपनी नाराजगी व्यक्त की थी। संगठन आज भी निगमीकरण एवं निजीकरण के विरोध में सरकार के निर्णय के विरूद्ध अपनी आवाज़ उठा रहा है।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप