उदयपुर/जोधपुर, जागरण संवाददाता। लंबे इंतजार के बाद आखिरकार मारवाड़ पर इंद्र देवता मेहरबान हो ही गए। पश्चिमी राजस्थान के जोधपुर समेत समूचे संभाग में बीते 2 दिनों से बारिश का दौर जारी है। गणेश चतुर्थी पर शुरू हुई बरसात शनिवार के दिन भी जारी रही, जिससे कि मौसम में ठंडक का एहसास हो रहा है। मौसम विभाग के अनुसार पूर्वी और दक्षिणी भागों में मानसून सक्रिय होने से बारिश की एक्टिविटी और बढ़ेगी और जोधपुर समेत जालौर सिरोही पाली बाड़मेर जैसलमेर के अलावा बीकानेर और दक्षिणी राजस्थान के कुछ हिस्सों में अच्छी बारिश होगी।

उदयपुर में पिछले 24 घंटे में तीन इंच से अधिक बारिश

देर से ही सही लेकिन उदयपुर में पिछले 24 घंटों में तीन इंच से अधिक बारिश हुई। लगातार हुई बारिश से जहां आधा दर्जन से अधिक कच्चे मकानों के गिरने की सूचना है, वहीं आकाशीय बिजली गिरने से एक महिला झुलस गई, जबकि पांच मवेशियों की मौत हो गई। कैचमेंट एरिया में अच्छी बारिश होने से उदयपुर की झीलों में पानी की आवक शुरू हो गई तथा पिछोला झील में गिरने वाली सीसारमा नदी दो फीट स्तर पर बह रही है।

उदयपुर में मानसून को लेकर लोगों की निराशा के बीच पिछले 24 घंटे में तीन इंच से अधिक बारिश दर्ज की गई। शहरी और ग्रामीण इलाकों में हुई तेज बारिश के चलते झीलों में पानी आना शुरू हो गया है। समीपवर्ती टीडी बांध लबालब होने के साथ छलक उठा है। उदयसागर झील में दो फीट पानी आने से जलस्तर बढ़कर 17.4 फीट हो गया। शहर के समीप कानपुर गांव में आबादी के बीच बनी जलदाय विभाग की पुरानी जर्जर पानी की टंकी की सीढ़ियां मूसलाधार बारिश के चलते टूट कर गिर गई। इससे मोहल्ले में हड़कम्प मच गया। वहां खड़ी एक कार भी इसकी चपेट में आ गई।

गनीमत रही कि बरसात में लोग घरों में थे अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। जबकि पडुणा गांव में छह कच्चे मकान गिर गए। हालांकि इन घटनाओं में किसी तरह की मानवीय क्षति नहीं पहुंची। कोटड़ा में आकाशीय बिजली गिरने से एक वृद्धा बुरी तरह झुलस गई, जबकि पांच मवेशियों की मौत हो गई।

झमाझम बारिश से जलमग्‍न हुई सड़कें

जोधपुर में बीते दिन भारी उमस रही लेकिन दोपहर बाद शाम होते होते मौसम ने करवट ली। शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 25 और अधिकतम 32 डिग्री रिकॉर्ड किया गया इससे पहले यहां हवा में नमी अधिक होने की वजह से सुबह से ही उमस भरा मौसम बना हुआ था। दोपहर बाद काले बादल आने शुरू हो गए। इससे शहर के अधिकांश इलाकों में बारिश हुई। जिले के ग्रामीण हिस्सों में भी ऐसा ही मौसम बना रहा। जोधपुर में ताबड़तोड़ बरसी झमाझम बारिश ने समूचे शहर को जलमग्न कर दिया। जगह-जगह सड़कों-चौराहों पर तेज रफ्तार से पानी उफन पड़ा मौसम तंत्र का सिस्टम मजबूत होने के कारण आज जोधपुर सहित आसपास के कई हिस्सों में अच्छी बारिश हुई। यह सिलसिला शनिवार को भी देखने को मिला जहां सवेरे से ही कम दबाव के छेत्र के बाद बरसात होनी शुरु हुई।

मौसम विभाग का अलर्ट और बढ़ेगी बारिश

मौसम विभाग के मुताबिक वर्तमान में एक परिसंचरण तंत्र मध्य प्रदेश और पूर्वी राजस्थान के ऊपर बना हुआ है जो समुद्र तल से 7.6 किमी ऊपर तक विस्तृत है। साथ ही मानसून की ट्रफ रेखा जैसलमेर, गुना, सतना, अंबिकापुर, पारादीप और पूव.मध्य बंगाल की खाड़ी गुजर रही है। इसी के प्रभाव से दक्षिणी, पूर्वी व पश्चिमी राजस्थान के हिस्सों में बारिश हो रही है इसी तंत्र के प्रभाव से आगामी दिनों में पूर्वी और दक्षिणी भागों में मानसून सक्रिय होने और बारिश बढ़ेगी। पूर्वी राजस्थान में भी लगभग सभी स्थानों पर जबकि पश्चिमी राजस्थान के कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना है।

 

Edited By: Babita Kashyap