जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान में होने वाले नगर निगम, नगर पालिकाओं एवं नगर परिषदों के चुनाव में महापौर, चेयरमैन और सभापतियों के पदों के लिए वर्गवार लॉटरी को जयपुर स्थित स्थानीय निकाय निदेशालय में निकाली गई लॉटरी में दो दिन पहले जयपुर शहर में बनाए गए दोनों नगर निगमों में महापौर की सीटें महिला ओबीसी के लिए आरक्षित हो गई है।

सरकार ने दो दिन पूर्व जयपुर की 40 लाख से अधिक की आबादी को देखते हुए जयपुर हैरेटेज और जयपुर ग्रेटर नगर निगम बनाए थे। कांग्रेस और भाजपा में सामान्य वर्ग के कई वरिष्ठ नेता इन दोनों नगर निगमों में महापौर पद पर नजर लगाए बैठे थे, लेकिन लॉटरी में दोनों सीटें महिला ओबीसी के लिए आरक्षित हो गई है। कोटा उत्तर नगर निगम में महापौर का पद एससी महिला के लिए आरक्षित हुआ है।

स्थानीय निकाय निदेशक भवानी देथा और जयपुर नगर निगम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वी.पी.सिंह ने विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की मौजूदगी में लॉटरी निकाली। यह लॉटरी प्रदेश के 10 नगर निगम,34 नगर परिषद और 152 नगर पालिकाओं के लिए निकाली गई है। लॉटरी में जयपुर संभाग की किशनगढबास, खेतड़ी, सूरजगढ़, विधाविहार, लोसल, नीमकाथाना, लालसोट, दौसा, फुलेरा, झुंझूनूं सामान्य वर्ग की महिला के लिए आरक्षित हुई है। इसी तरह थानागाजी,मंडावा ओबीसी के लिए आरक्षित हुई है।

फतेहपुर शेखावाटी,खैरथल,महुआ,शाहपुरा ओबीसी वर्ग के लिए आरक्षित हुई है।अजमेर संभाग में ओबसी और एससी के लिए 7- 7,सामान्य वर्ग के लिए 21 सीटें आरक्षित हुई है। कोटा संभाग की 21 में से 6 एसी,4 ओबीसी और 11 सामान्य के लिए आरक्षित हुई है।

जोधपुर शहर के दोनों नगर निगम उत्तर एवं दक्षिण में सामन्य महिला वर्ग की महापौर बन कसेगी। जोधपुर संभाग के कुल 26 निकायों में सामान्य वर्ग के लिए 17, ओबीसी के लिए 5, एससी के लिए 4 पद आरक्षित हुए है।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप