जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान में करौली जिले के हिंडौन जेल में बंद एक कैदी ने बुधवार को फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। आर्म्स एक्ट मामले में बंद कैदी महेंद्र जोगी ने जेल के चौक में बनी कोठरी में बने रोशनदान से लटक कर आत्महत्या कर ली। इसके लिए उसने अपना तोलिया काम में लिया। सूचना मिलते ही न्यायिक मजिस्ट्रेट शेला फौजदार और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी जेल में पहुंचे। अधिकारियों ने कैदी का शव अस्पताल की मोर्चरी में पोस्टमार्टम के लिए भेजा और परिजनों को घटना की सूचना दी।

पुलिस के अनुसार करौली जिले में गढ़मोरा पुलिस थाना क्षेत्र के गढ़ खेड़ा गांव निवासी महेंद्र जोगी आर्म्स एक्ट और चोरी के मामले में 29 अगस्त से कोर्ट के आदेश पर हिंडौन जेल में बंद था। जेलर किशनचंद ने बताया कि बुधवार सुबह करीब 8 बजे अन्य कैदियों के साथ महेंद्र जोगी ने भी नाश्ता किया था। इसके बाद सभी बंदी अपने-अपने काम पर लग गए, तभी महेंद्र जोगी ने तोलिये से बैरक की रोशनदान में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। अन्य कैदी जब वापस बैरक में आए तो घटना की जानकारी मिली। कैदियों ने जेलर को सूचना दी। जेलर ने उच्च अधिकारियों को सूचना दी।

पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों ने मौके से साक्ष्य जुटाकर जांच शुरू की है। महेंद्र जोगी की आत्महत्या के कारणों का फिलहाल खुलासा नहीं हुआ है। उधर उसके परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया है।

पेशी पर आया कैदी कोर्ट परिसर से हुआ फरार

दूसरी और जोधपुर में पेशी के दौरान लाया गया एक कैदी अदालत में सुनवाई के समय फरार हो गया। आरोपी दीपेंद्र जोधपुर के निकट पीपाड़ क्षेत्र का निवासी बताया गया है और 2 दिन पूर्व ही उसे गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद आज कोर्ट में पेश करते समय वो दीवार फांद कर भाग गया। मामले में पुलिस ने तलाशी शुरू की है।

जोधपुर कमिश्नरेट डीसीपी धर्मेंद्र यादव ने का बताया कि दिन में सभी कैदियों के साथ दीपेंद्र को भी लाया गया था जिसके बाद उसके भागने की इत्तला पर आसपास के क्षेत्रों में नाकेबंदी करवा कर तलाशी प्रारंभ की गई है इसके अलावा उसके अन्य रिकॉर्ड्स को भी खंगाला जा रहा है साथ ही इस बारे में भी पता लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं कि उसका 2 दिनों में किसी अन्य जानकार से संपर्क हुआ या नहीं सभी पहलुओं को ध्यान में रख कैदी को पकड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं।आरोपी दीपेंद्र को पीपाड़ थाना पुलिस ने गबन के मामले में पकड़ा था। 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप