जयपुर, जेएनएन। बहरोड़ पुलिस थाने में हवालात से फरार अभियुक्त विक्रम उर्फ पपला गुर्जर पर एक लाख रुपये का नगद इनाम घोषित किया गया है। पुलिस महानिदेषक भूपेंद्र सिंह ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं। 

इस अभियुक्त की राज्य पुलिस की विषेष टीमे गहनता से तलाश कर रही है। अभियुक्त को बंदी बनाने व बंदी करवाने या बंदी बनवाने के लिए सही सूचना देने वाले व्यक्ति को एक लाख रुपये का नगद पुरस्कार दिया जाएगा। सूचना देने वाले व्यक्ति का नाम गुप्त रखा जाएगा। 

जानें, क्या है मामला
गौरतलब है कि बहरोड़ थाने पर फायरिंग कर गैंगस्टर विक्रम उर्फ पपला गुर्जर को छुड़ाकर ले जाने के मामले में स्पेशल आपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने दो युवकों विक्रम सिंह व जितेंद्र को गिरफ्तार किया है। उधर, कोर्ट ने रिमांड पर चल रहे हिस्ट्रीशीटर विनोद स्वामी, कैलाश, जगन खटाणा, सुभाष गुर्जर, भरत सिंह व महिपाल गुर्जर को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। एटीएस व एसओजी के एडीजी अनिल पालीवाल ने पपला गुर्जर को पकड़ने वाले को एक लाख रुपये इनाम देने का प्रस्ताव तैयार कर डीजीपी भूपेंद्र ¨सह को भिजवाया है। उधर, बुधवार को पपला को छुड़ाकर ले जाने वाले छह बदमाशों पर 50-50 हजार का इनाम घोषित किया है और पुलिस व एसओजी की टीमें राजस्थान व हरियाणा में दबिश दे रही हैं।

तलाश में तीन राज्यों की पुलिस
बहरोड़ जेल से फायरिंग कर छुड़ाए गए ईनामी बदमाश विक्रम उर्फ पपला का एक सप्ताह बाद भी पता नहीं चल पाया है। पपला की तलाश में राजस्थान, हरियाणा व उत्तर प्रदेश पुलिस ने अनेक स्थानों पर दबिश दी लेकिन उसे पकड़ने में नाकाम रही है। नीमराणा एएसपी लगाए गए सिद्धांत शर्मा व डीएसपी महावीर सिंह की टीम ने गुरुवार को इनपुट मिलने के बाद रुड़की सहित अन्य स्थानों पर में दबिश दी, लेकिन पपला पकड़ में नहीं आया। राजस्थान पुलिस, एटीएस व एसओजी की टीमें उत्तर प्रदेश में पपला के छिपे होने की आशंका पर शहरों की खाक छान रही हैं। एसओजी ने भिवाड़ी सर्किल से भी कुछ युवकों को लाकर भिवाड़ी थाने में पूछताछ की गई, लेकिन पपला का सुराग नहीं लग पाया।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप