जयपुर, जागरण संवाददाता।  राजस्थान में विधायक अपनी निधि( फंड) से दिव्यांगों को दोपहिया वाहन भी दे सकेंगे। चुनाव से कुछ माह पूर्व वसुंधरा राजे सरकार ने क्षेत्र के विकास के लिए विधायकों के हाथ खोल दिए हैं।

ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग के प्रमुख शासन सचिव राजेश्वर सिंह की ओर से जारी आदेश के मुताबिक, विधायक अधिकतम 70 हजार रुपये तक की कीमत का स्कूटर या स्कूटी दिव्यांगों को अपने फंड से उपलब्ध करा सकेंगे। शर्त यह है कि लाभार्थी ने पूर्व में किसी राजकीय योजना के तहत यह लाभ प्राप्त न किया हो।

एक तरफ सरकार जहां इसे जरूरतमंदों की मदद बता रही है, वहीं कांग्रेस इस निर्णय को चुनाव से पहले राजनीतिक लाभ लेने का माध्यम बता रही है।

कांग्रेस की प्रदेश प्रवक्ता अर्चना शर्मा का कहना है कि जरूरतमंदों की मदद की जानी चाहिए, लेकिन नियमों में रहकर। चुनाव से ठीक पहले इस तरह का निर्णय लोगों को खुश करने वाला कदम है।

Posted By: Preeti jha