जोधपुर, जागरण संवाददाता। जोधपुर शहर के समीप खुली जेल में बंदियों में होते सुधार को देखते हुए रखा जाता है। जहां श्रम परिश्रम कर कैदी अपना खुला जीवन जीते है। मगर खुली जेल मंडोर में एक पिता अपनी ही मासूम पुत्री से हैवानियत पर उतर आया। झगड़ालू पति से तंग आकर उसकी पत्नी अपने पीहर सिरोही चली गई। वहां रेवदर थाने में बच्ची से पिता द्वारा किए जा रहे हैवानियत की कहानी बयां की और केस दर्ज करवाया। मामला चूंकि जोधपुर के खुली जेल का होने से यहां मंडोर थाने में अब प्राथमिकी दर्ज की गई है। मंडोर थाना पुलिस मामले के अनुसंधान में जुटी है।

मंडोर पुलिस के अनुसार सिरोही जिले के रेवदर इलाके में रहने वाली एक महिला ने यह रिपोर्ट दी। इसमें बताया कि उसका पति गणेशराम हत्या के केस में सजा काट रहा है, जो कि खुली जेल है। वह खुली जेल में पति के साथ रहती थी। पति गणेशराम आए दिन मारपीट और झगड़े करता रहता। उसने अपनी 12-13 साल की बच्ची से दुष्कर्म किया। बाद में उसकी हैवानियत बढ़ती गई। पति के आए दिन मारपीट एवं झगड़े से तंग आकर वह पीहर आ गई। पीहर से रेवदर थाने में केस दर्ज करवाया।

मंडोर पुलिस ने बताया कि घटना चूंकि मंडोर खुली जेल की है। ऐसे में रेवदर से मिली जीरो नंबर की एफआईआर पर पिता के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। थानाधिकारी गुरमेल सिंह आज सुबह बच्ची के बयान लेने के लिए गए है। फिलहाल प्रकरण में गहन अनुसंधान किया जा रहा है।

Edited By: Pradeep Chauhan