जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान हाईकोर्ट ने शुक्रवार को फिल्म निर्माता बोनी कपूर को राहत देते हुए उनके खिलाफ दर्ज एक एफआईआर को रद्द करने के आदेश दिए। जयपुर में सेलेब्रिटी क्रिकेट लीग कराने के नाम पर ढाई करोड़ की ठगी के मामले में बोनी कपूर के खिलाफ जयपुर के प्रवीण सेठी ने प्रतापनगर पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी ।

17 जून को दर्ज कराई गई रिपोर्ट में बोनी कपूर के अलावा मुस्तफा और पवन जांगिड़ पर भी ढ़ाई करोड़ रूपए की ठगी करने का आरोप लगाया गया था। इस रिपोर्ट को रद्द करने के लिए बोनी कपूर ने अपराधिक विविध याचिका दायर की थी। अपनी याचिका में बोनी कपूर ने कहा कि वो मुस्तफा को जानते थे और उनके कहने पर ही प्रेसवार्ता में शामिल हुए थे।

उन्होंने प्रवीण से किसी भी तरह की राशि नहीं ली है। इस याचिका पर बहस पूरी होने के बाद न्यायाधीश पंकज भंडारी ने 16 सितंबर फैसला सुरक्षित रख लिया गया था। कोर्ट ने शुक्रवार को इस पर फैसला सुनाते हुए बोनी कपूर के खिलाफ दर्ज एफआईआर रद्द करने के आदेश दिए। हालांकि मुस्तफा और पवन जांगिड़ के खिलाफ दर्ज एफआईआर को रद्द नहीं किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि प्रवीण सेठी ने आरोप लगाया था कि उन्होंने अपने एक साथी के साथ सेलेब्रिटी क्रिकेट लीग में निवेश किया था। लीग के निदेशक पवन जांगीड़ ने मुस्तफा राज और बोनी कपूर से एग्रीमेंट करते हुए काफी मुनाफा कमाने के नाम पर ढ़ाई करोड़ की राशि ली थी। ये रकम अगस्त से नवंबर,2018के बीच सिग्नेचर क्रिकेट लीग कंपनी के खाते में ट्रांसफर की गई थी,जिसे कंपनी ने आगे मुस्तफा राज की जिंग कंपनी के खाते में ट्रांसफर किए गए। जिंग कंपनी और बोनी कपूर की बंगाल टाइगर दोनों कंपनियों में साझेदारी रही। दिसंबर,2018 में प्रवीण सेठी ने रकम लौटाने की मांग की। रकम नहीं लौआने पर उसने 17 जून,2019 को बोनी कपूर,पवन जांगिड़ और मुस्तफा राज के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया था।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस