जागरण संवाददाता, जयपुर : राजस्थान सरकार के एक निर्णय से प्रदेश के अभिभावकों को बड़ी राहत मिली है। राज्य सरकार ने तय किया है कि सीबीएससी से संबद्ध निजी स्कूलों में 9वीं से 12वीं कक्षा के लिए ट्यूशन फीस में 30 फीसदी की कटौती होगी। वहीं राज्य माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से संबद्ध स्कूलों में 40 फीसदी तक कम फीस वसूल की जा सकेगी। 

फीस की कमी करने के पीछे सरकार का कहना है कि चूंकि सीबीएसई ने 30 फीसदी तक सिलेबस कम कर दिया है,इसलिए ट्यूशन फीस को कम कर दिया है । वहीं राजस्थान बोर्ड ने सिलेबस को 40 फीसदी कम कर दिया है इसलिए उन्हें भी फीस को 40 फीसदी तक कम करना चाहिए । हालांकि प्रदेश के निजी स्कूल संचालक सरकार के इस फैसले से नाखुश है। 

संचालकों का कहना है कि वे शिक्षकों को वेतन देने के साथ ही अन्य खर्च कर रहे हैं ऐसे में इतनी कटौती करना गलत है। राज्य सरकार ने शिक्षा विभाग ने स्कूलों को 2 नवंबर से खोलने का सुझाव भी दिया है। स्कूलों को खोलने का निर्देश 9वीं से 12वीं कक्षा के लिए दिया गया है। पहली से आठवीं कक्षा के लिए कोई निर्देश जारी नहीं किया गया है। 

पहली से आठवीं कक्षा तक की फीस को लेकर स्कूलों को खुलने पर फीस से संबंधित फैसला लिया जाएगा । चूंकि पिछले आठ महीनों से स्कूल कॉलेज बंद हैं इसलिए फीस को लेकर समिति का गठन किया गया था। अभिभाव की भी नो स्कूल, नो फी की मांग कर रहे थे ।इसी के बाद राज्य सरकार ने समिति का गठन किया गया था । इसी के बाद के फैसला लिया गया था।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस