जयपुर, एएनआइ। Rajasthan Deputy CM. राजस्थान के डिप्टी सीएम और कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया है और सभी को इसे स्वीकार करना चाहिए। इस पर राजनीति अब समाप्त होनी चाहिए। कांग्रेस चाहती है कि अयोध्या में एक भव्य मंदिर का निर्माण किया जाए।

गहलोत बोले, सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं

आयोध्या मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा शनिवार को सुनाए गए फैसले का राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने स्वागत किया था। गहलोत ने जयपुर में मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा कि अयोध्या के फैसले का लंबे समय से इंतजार था। आखिरकार फैसला आ ही गया। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का सभी को सम्मान करना चाहिए। कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करती है। उन्होंने कहा कि अब मंदिर मुद्दे पर भाजपा को राजनीति करने का मौका नहीं मिलेगा। प्रदेश के लोगों से शांति एवं सौहार्द बनाए रखने की अपील करते हुए गहलोत ने कहा कि कानून किसी को हाथ में नहीं लेने देंगे। शांति व्यवस्था कायम रखना सरकार की जिम्मेदारी है। 

उधर, उप मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने एक बयान में सभी लोगों से शांति एवं सद्भावना बनाए रखने की अपील की थी। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का सभी को पालन करना चाहिए।

शाहनवाज हुसैन बोले, कांग्रेस ने दी थी अयोध्या की समस्या 

वहीं, राजस्थान यात्रा पर आए भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने मीडिया से बातचीत में कहा कि कांग्रेस ने ही अयोध्या की समस्या भी दी थी और आजादी के बाद से ही इस मुद्दे को उलझाया हुआ था लेकिन देश में फैसले के बाद जिस तरह का सौहार्द का वातावरण रहा, उसकी तारीफ की जानी चाहिए।

शाहनवाज हुसैन ने बताया कि फैसले से पहले हुई हमारी मुसलमानों के साथ हुई बैठक में मुसलमानों ने कहा था कि जो भी कोर्ट का फैसला आएगा हम स्वीकार आएंगे। इस केस के पक्षकार को भी मंजूर है, सुन्नी वक्फ बोर्ड भी फैसले के साथ, लेकिन मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड और ओवेसी को यह फैसला पसंद नहीं है। उन्होंने कहा कि जहां भी शांति और भाईचारे की बात होगी, वह आवेसी को पसंद नहीं होगी।

मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड ने देश के मुसलमानों से बातचीत किए बिना ओवेसी ने जो कहा, उसे मान लिया जबकि 99 प्रतिशत से भी ज्यादा मुसलमान सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मानते है और अब सुप्रीम कोर्ट के कहे अनुसार सरकार इस पर काम शुरू करेगी और जल्द ही देश के लोगों की इच्छा पूरी होगी तथा वहां भव्य मंदिर बनेगा।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस