उदयपुर, संवाद सूत्र। Rajasthan BJP. पूर्व मंत्री अरुण चतुर्वेदी एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता मदन दिलावर का कहना है कि भाजपा लोकतांत्रिक पार्टी है, कांग्रेस की तरह परिवार की नहीं। हम लोकतांत्रिक तरीके से ब्लॉक से लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष का चयन करते हैं। इसके विपरीत कांग्रेस परिवारवाद में फंसी हुई है। उनके पास परिवार से निकलने के अलावा और कोई चारा ही नहीं। दोनों नेता सोमवार को उदयपुर में भाजपा जिलाध्यक्ष एवं प्रदेश प्रतिनिधियों के नामांकन प्रक्रिया को संपन्न कराने के लिए आए थे। इस बीच, उन्होंने मीडिया से भी बात की।

दोनों नेताओं ने कहा कि उन्हें पार्टी एवं संगठन पर गर्व है, जहां प्रत्येक कार्यकर्ता को अवसर मिलता है। किसी व्यक्ति विशेष या पदाधिकारी की नहीं चलती। ब्लॉक से लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद के लिए एक ही जैसी प्रक्रिया निभाई जाती है। इससे पहले उन्होंने उदयपुर भाजपा के संभागीय कार्यालय में शहर एवं देहात जिलाध्यक्ष के अलावा प्रदेश प्रतिनिधियों के लिए पार्टी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं से नामांकन आमंत्रित किए। इस दौरान शहर जिलाध्यक्ष रवीन्द्र श्रीमाली, ग्रामीण जिलाध्यक्ष भंवर सिंह पवार, पूर्व प्रदेश मंत्री प्रमोद सामर, पूर्व जिलाध्यक्ष दिनेश भट्ट, गिर्वा प्रधान तखत सिंह शक्तावत, गीता पटेल, शहर महामंत्री प्रेम सिंह शक्तावत आदि शामिल रहे।

उदयपुर शहर जिला अध्यक्ष पद के लिए रवीन्द्र श्रीमाली के अलावा प्रेम सिंह शक्तावत, डॉक्टर किरण जैन, अर्चना शर्मा, महेंद्र सिंह शेखावत, दिग्विजय श्रीमाली, विजय प्रकाश विप्लवी, अनिल सिंघल एवं गजेंद्र जैन ने आवेदन प्रस्तुत किए। इसी प्रकार देहात जिला अध्यक्ष पद के लिए भंवर सिंह पवार, प्रकाश जैन एवं कैलाश गांधी ने आवेदन सौंपे। प्रदेश प्रतिनिधि के लिए उदयपुर शहर जिला से नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया, उदयपुर ग्रामीण विधायक फूल सिंह मीणा, प्रमोद सामर, पूर्व महापौर रजनी डांगी, तखत सिंह शक्तावत एवं आकाश बागरेचा ने आवेदन दिए, वहीं उदयपुर देहात से महेंद्र औदिच्य, सुंदरलाल भाणावत, गोगुंदा विधायक प्रताप लाल गमेती, उदयलाल डांगी, संजय चाष्टा, पुष्कर तेली, नानालाल अहारी, चंद्रगुप्त सिंह चौहान, नरेंद्र मीणा, ख्यालीलाल जैन, डॉ. गीता पटेल और कन्हैया लाल मीणा ने आवेदन प्रस्तुत किए।

दिल्ली के चक्करों से फुरसत मिले तो राज्य पर ध्यान दें

मीडिया से बातचीत में भाजपा नेता चतुर्वेदी एवं दिलावर ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट को दिल्ली के चक्करों से फुरसत नहीं। दोनों अपनी कुरसी बचाने में जुटे हैं। इसके चलते राज्य के लोगों को सफर करना पड़ रहा है। राज्य का किसान, बेरोजगार एवं मजदूर पूरी तरह त्रस्त है लेकिन उन्हें इनकी फिक्र नहीं।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस