जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान की दो विधानसभा सीटों के लिए 21 अक्टूबर को होने वाले उपचुनाव के लिए कांग्रेस और भाजपा ने अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है। भाजपा ने एक सीट एनडीए में अपने सहयोगी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) के लिए छोड़ी है। सोमवार को नामांकन दाखिल करने का अंतिम दिन है। प्रमुख पार्टियों के प्रत्याशी सोमवार को भी नामांकन दाखिल करेंगे।

कांग्रेस ने मंडावा विधानसभा सीट से रीटा चौधरी को टिकट दिया है, जबकि भाजपा ने उनके सामने सुशीला सींगड़ा को टिकट दिया है। सुशीला सिंगड़ा ने टिकट मिलने से डेढ़ घंटे पहले ही भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। सुशीला सिंगड़ा अब तक भाजपा के खिलाफ रही हैं। रविवार को राज्य विधानसभा में भाजपा विधायक दल के उप नेता राजेंद्र राठौड़ व सांसद नरेंद्र खीचड़ ने उन्हे भाजपा की सदस्यता दिलाई। खीचड़ इस सीट से अपने बेटे को टिकट दिलाना चाहते थे।

उधर, खींवसर सीट पर कांग्रेस ने पूर्व मंत्री हरेंद्र मिर्धा को टिकट दिया है। वहीं, भाजपा ने एनडीए के सहयोगी दल आरएलपी के लिए यह सीट छोड़ी है। आरएलपी के अध्यक्ष हनुमान बेनीवाल ने इस सीट से अपने छोटे भाई नारायण बेनीवाल को टिकट दिया है। सोमवार को दोनों ही सीटों पर कांग्रेस प्रत्याशियों के नामांकन-पत्र दाखिल करने से पूर्व होने वाली आमसभा को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उपमुख्यमत्री सचिन पायलट व कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे संबोधित करेंगे।

वहीं, खींवसर व मंडावा में आरएलपी और भाजपा प्रत्याशियों के नामांकन दाखिल करते समय भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, पूर्व अध्यक्ष अरूण चतुर्वेदी, पूर्व केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल, विधानसभा में उपनेता राजेंद्र राठौड़ व हनुमान बेनीवाल मौजूद रहेंगे।

उल्लेखनीय है कि खींवसर विधानसभा सीट हनुमान बेनीवाल के नागौर से सांसद बनने व मंडावा सीट नरेंद्र खीचड़ के झुंझुनू से लोकसभा चुनाव जीतने के कारण खाली हुई है। अब 21 अक्टूबर को दोनों ही सीटों पर उपचुनाव कराए जा रहे हैं। 24 अक्टूबर को मतगणना होगी।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस