जयपुर, जेेएनएन। दस दिन पहले तक अकाल की आशंका वाले राजस्थान में बादल देर से आए लेकिन बहुत हद तक दुरस्त आए। राज्य के ज्यादातर हिस्सों में पिछले आठ-दस दिन में हुई बारिश ने यहां सूखे की आशंका को खत्म कर दिया है। हालांकि प्रदेश के पश्चिमी हिस्से को अभी भी अच्छी बारिश का इंतजार है। बांधों में पानी की आवक और अभी बारिश का दौर जारी रहने की मौसम विभाग की भविष्यवाणी ने लोगों की उम्मीदें जगाई हुई हैं।

राजस्थान में 21 जुलाई तक 13 जिलों में अकाल की छाया नजर आ रही थी। यहां के बांधों में सिर्फ 33 प्रतिशत पानी बचा था और 800 में से सिर्फ पांच बांध पूरे भरे हुए थे। पूरे प्रदेश में सामान्य से छह प्रतिशत कम बारिश हुई थी लेकिन 25 जुलाई से प्रदेश में अच्छी बारिश का दौर शुरू हुआ। यह करीब चार दिन लगातार चला। इसके बाद फिर तीन दिन सूखे बीते फिर एक अगस्त से फिर बढ़िया बारिश हो रही है।

सिंचाई विभाग के आंकड़ों की बात करें तो अभी तक प्रदेश में औसत से 15.4 प्रतिशत ज्यादा बारिश हो चुकी है। अब तक सामान्य तौर पर 267 मिमी बारिश होती है लेकिन तीन अगस्त तक 308 मिमी पानी बरस चुका हैं। प्रदेश के 33 में से 28 जिलों में सामान्य या इससे ज्यादा बारिश हो चुकी है, वहीं तीन जिलों झुंझुनूं, सीकर और अजमेर में तो सामान्य से अधिक बारिश हो चुकी है। इनमें से सीकर और झुंझुनूं तो ऐसे जिले हैं जहां बारिश आमतौर पर बहुत कम होती है और जो अकसर सूखे की चपेट में रहते है, लेकिन इस बार इन जिलों में अब तक सामान्य से 86 प्रतिशत तक अधिक बारिश हो गई है।

पश्चिमी राजस्थान को बारिश का इंतजार

इस बार के मानसून ने जहां अब तक पूर्वी राजस्थान को लगभग तर कर दिया है, वहीं पश्चिमी राजस्थान को अच्छी बारिश का इंतजार है। उत्तर-पश्चिमी राजस्थान के जोधपुर और बीकानेर संभाग में सामान्य से कम बारिश हुई है। इनमें भी बीकानेर संभाग की स्थिति तो फिर भी कुछ हद तक ठीक है लेकिन जोधपुर, बाड़मेर, जैसलमेर, पाली, जालौर, सिरोही में मानसून के बादलों का इंतजार बना हुआ है।

बांधों में आया पानी

पिछले कुछ दिनों से हो रही बारिश से अब जल संकट की स्थिति बहुत हद तक खत्म हो गई है। 21 जुलाई तक प्रदेश के 800 बांधों में से केवल पांच पूरे भरे थे लेकिन अब पूरे भरे बांधों की संख्या बढ़कर 35 हो गई है, वहीं 416 बांधों में ठीकठाक पानी भर गया है।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप