उदयपुर, संवाद सूत्र। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा राजस्थान के रणथंभौर में तीन दिन रुकने के बाद शुक्रवार को भारी पुलिस बल व कड़ी सुरक्षा के बीच सड़क मार्ग से दिल्ली रवाना हो गई हैं। प्रियंका गांधी अपने पति राबर्ट वाड्रा के साथ मंगलवार को रणथंभौर आई थीं। जबकि उनके बेटा-बेटी एक दिन पहले ही यहां पहुंच गए थे। राजस्थान प्रवास के दौरान तीन दिन तक प्रियंका गांधी अपने परिवार के साथ सवाई माधोपुर जिले के रणथंभौर स्थित होटल शेर बाग में ठहरीं। यहां 12  जनवरी को प्रियंका गांधी ने परिवार के साथ अपना बर्थ-डे भी सेलिब्रेट किया। उन्होंने अपने परिवार के साथ रणथंभौर में टाइगर सफारी भी की। अलवर में 14 साल की एक मूक-बधिर बालिका के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में प्रियंका गांधी वाड्रा को भाजपा का विरोध भी सहना पड़ा। भाजपा के राज्यसभा सांसद डा. किरोड़ीलाल मीणा अपने समर्थक महिलाओं के साथ उनक घेराव करने पहुंचे, हालांकि पुलिस ने उन्हें प्रियंका तक पहुंचने नहीं दिया। भारी विरोध के बाद सांसद मीणा कुछ महिला प्रतिनिधिमंडल के साथ प्रियंका गांधी से मिल पाए। शुक्रवार को प्रियंका गांधी वाड्रा की दिल्ली वापसी को लेकर पुलिस प्रशासन बेहद अलर्ट नजर आया। प्रियंका गांधी वाड्रा का काफिला भारी पुलिस सुरक्षा के बीच सड़क मार्ग से दिल्ली के लिए रवाना हो गया। 

अलवर में नाबालिग से दुष्कर्म पर चुप क्यों हैं प्रियंका : भाजपा

नई दिल्ली, प्रेट्र : भाजपा ने राजस्थान के अलवर में मानसिक रूप से विक्षिप्त नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म के संदिग्ध मामले को लेकर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा पर निशाना साधा है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि प्रियंका चुनिंदा राजनीति में लिप्त हैं और अपनी राजनीति को आगे बढ़ाने के लिए महिलाओं के खिलाफ अत्याचार का इस्तेमाल करती हैं। वह उत्तर प्रदेश में महिलाओं के लिए 'लड़की हूं, लड़ सकती हूं' जैसे नारे देती हैं। लेकिन राजस्थान जैसे कांग्रेस शासित राज्य में महिलाओं के लिए उनका सुझाव है- लड़की हो तो लड़ना मना है। संबित पात्रा ने शुक्रवार को कहा, दरअसल आप कांग्रेस के नेता हैं और केवल राजनीति कर सकते हैं। जबकि हर किसी को महिलाओं के लिए न्याय की खातिर बोलना चाहिए और उन पर किसी भी अत्याचार के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए। जब प्रियंका गांधी वाड्रा और राहुल गांधी अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा के कारण इस मुद्दे को चुनिंदा रूप से इस्तेमाल करते हैं तो यह अक्षम्य हो जाता है।

संबित पात्रा ने साधा निशाना

उन्होंने कहा कि दोनों भाई-बहनों में से कोई भी पीड़िता के परिवार से नहीं मिला और न ही पीडि़ता से मिला जो अस्पताल में जीवन के लिए संघर्ष कर रही है। वे ऐसा गैर कांग्रेस शासित राज्यों में करते हैं। पात्रा ने पूछा, उन्होंने वहां पीड़ितों के परिवारों के साथ अपनी तस्वीरें पोस्ट कीं, लेकिन क्या वे राजस्थान जाकर लड़की से मिले। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रियंका राजस्थान के रणथंभौर में अपनी जन्मतिथि मना रही थीं और भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल इस मुद्दे पर उनसे मिलना चाहता था, लेकिन इन्कार कर दिया गया। पात्रा ने पूछा कि क्या उन्होंने (प्रियंका) राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से इस भयावह घटना के बारे में रिपोर्ट मांगी है।

Edited By: Sachin Kumar Mishra