जयपुर, नरेन्द्र शर्मा। राजस्थान विधानसभा चुनाव से करीब 5 माह पूर्व शनिवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जयपुर यात्रा भाजपा के लिए उम्मीद की किरण बनकर आई है। एंटीकंबेंसी फैक्टर,किसानों,बेरोजगारों,राजपूत समाज की नाराजगी और नेताओं की आपसी कलह से जूझ रही राज्य की वसुंधरा राजे सरकार और भाजपा संगठन को उम्मीद है कि मोदी की यात्रा का पार्टी को चुनाव में राजनीतिक लाभ अवश्य मिलेगा।

भाजपा नेताओं को उम्मीद है कि राज्य में प्रत्येक पांच साल में सत्ता बदलाव के क्रम को थामने के प्रयासों के लिए मोदी का दौरा काफी अहम साबित होगा। शनिवार को मोदी की यात्रा वैसे तो सरकारी थी। वे केन्द्र और राज्य सरकार की योजनाओं के लाभार्थियों से रूबरू,लेकिन भाजपा के लिए यह चुनाव प्रचार अभियान का आगाज भी रहा।

राज्य भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन लाल सैनी का कहना है कि पीएम मोदी के करिश्माई नेतृत्व का लाभ पिछले विधानसभा और लोकसभा चुनाव में भाजपा को मिला एवं आगे भी मिलेगा। सैनी का कहना है कि शनिवार की यात्रा चाहे सरकारी हो,लेकिन भाजपा को इसका रानीतिक लाभ अवश्य मिलेगा। राज्य के संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने मोदी की यात्रा को भाजपा के चुनाव अभियान की शुरूआत बताते हुए कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार की योजनाओं के बल पर हम चुनाव मैदान में जाएंगे।

काले कपड़े पहनने वालों को नो-एंट्री

राज्य भर से 2 लाख 38 हजार केन्द्र और राज्य सरकार की योजनाओं के लाभार्थी पीएम मोदी से संवाद करने के लिए जयपुर पहुंचे । लेकिन काली पैंट,काली शर्ट,काली बनियान और मोजे और काली टोपी पहन कर आने वालों को सभा स्थल तक नहीं पहुंचने दिया गया।

पुलिस ने इन लोगों को या तो शहर में प्रवेश करने से पूर्व ही रोक लिया अथवा सभा स्थल के बाहर रोक लिया गया। काला बुर्का पहनकर आने वाली मुस्लिम महिलाओं को भी वापस लौटना पड़ा। सभा स्थल के प्रवेश द्वारों पर काले कपड़ों को एकत्रित करके साथ के साथ एक वाहन में डालकर भेज दिया गया। कई लोग शनिवार का दिन होने के कारण काले कपड़े पहन कर आ थे।

ये सभी महिलाएं और पुरूष राज्य के विभिन्न जिलों से पीएम मोदी की सभा में शामिल होने पहुंचे थे। सभा में प्रवेश नहीं करने देने पर नाराजगी जताते हुए इन लोगों ने कहा कि हमें पहले काले कपड़े पहनकर नहीं आने के लिए नहीं कहा गया। जयपुर के रामगंज इलाके की जरीना बानों और मेहरून्निसा ने बताया कि हम भाजपा अल्पसंख्यक महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं के साथ आए थे,लेकिन बुर्का पहने होने के कारण हमें सभा से कुछ दूर रामबाग सर्किल पर ही रोक लिया गया।

इसी तरह अजमेर के रामदेव महाजन ने बताया कि मै भाजपा का कार्यकर्ता होने के साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभार्थी भी हूं,लेकिन काली बनियान पहने होने के कारण मुझे सभा स्थल तक नहीं जाने दिया गया । दरअसल,इसी साल जनवरी माह में झुंझुनू में पीएम मोदी की सभा में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के भाषण के दौरान काले कपड़े लहराए जाने की घटना के बाद से राजस्थान सरकार काफी सतर्क हो गई और काले पहनने वालों को सभा स्थल तक नहीं पहुंचने दिया गया।

जयपुर आ रहे लाभार्थियों की बस फायरिंग की चपेट में

केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं के लाभार्थियों को लेकर शुक्रवार देर रात जैसलमेर से जयपुर आ रही बस गैंगवार का शिकार हो गई। जयपुर आते समय जोधपुर के पास यह बस बदमाशों के बीच हो रही फायरिंग की चपेट में आ गई। जिससे बस में सवार तीन लाभार्थी खेताराम,मनोहर सिंह और नगसिंह घायल हो गए,जिन्हे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सरकार ने प्रदेश के 33 जिलों से लाभार्थियों को जयपुर में प्रधानमंत्री से संवाद करने के स्थान तक लाने के लिए 5579 बसें और करीब 2000 छोटे वाहन लगाए थे। 

Posted By: Preeti jha