जागरण संवाददाता, जयपुर। Coronavirus. राजस्थान के भीलवाड़ा जिले में आयोजित होने वाले विवाह समारोह में अब पुलिसकर्मी भी मौजूद रहेंगे। जिला कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं। दरअसल, राज्य सरकार ने 50 लोगों की मौजूदगी में विवाह समारोह आयोजित करने व अंतिम संस्कार में 20 लोगों के शामिल होने की अनुमति दी है, लेकिन शनिवार को भीलवाड़ा में आयोजित एक विवाह समारोह में 250 लोग शामिल हुए थे। इस कारण वहां कोरोना संक्रमण फैल गया,16 लोग पॉजिटिव मिले थे और दूल्हे के दादा की मौत हो गई।

इस पर जिला कलेक्टर ने विवाह समारोह के आयोजकों पर 6,26,600 रुपये का जुर्माना लगाया था। उसके बाद अब भीलवाड़ा में विवाह समारोह पुलिस की मौजूदगी में हो रहे हैं। मंडप में संबंधित इलाके के थानेदार को वहां बैठकर निगरानी करनी पड़ रही है कि कोरोना गाइडलाइन का पालन हो रहा है या नहीं। रविवार को भीलवाड़ा के कांची रिसॉर्ट में शैलेंद्र चौधरी के पुत्र हर्षित के विवाह में ऐसा ही नजारा देखने को मिला। इसमें वधू पक्ष ब्यावर से आया था। वर-वधू दोनों ओर से कुल 35 परिजन इस विवाह में सम्मिलित हुए। दूल्हे और दुल्हन सहित सभी ने मास्क लगा रखे थे।

कोरोना गाइडलाइन का पालन करवाने के लिए प्रतापनगर पुलिस थाना अधिकारी भजनलाल खुद मंडप में मौजूद रहे। जिला कलेक्टर के निर्देश पर क्षेत्रीय मजिस्ट्रेट भी लगातार निगरानी रखते हैं। विवाह के पूरे समारोह के दौरान मजिस्ट्रेट व पुलिस थाना अधिकारी नजर रखते हैं कि वहां उपस्थित लोगों की संख्या 50 से कम हो। सभी ने मास्क ने लगा रखा या नहीं। सैनिटाइजर का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो रहा है या नहीं। उल्लेखनीय है कि राजस्थान में सबसे पहले भीलवाड़ा ही कोरोना जोन बना था। राजस्थान में कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। राजस्थान में रविवार को कोरोना के 327 पीड़ित मिलने के साथ ही 8 लोगों की मौत हुई है। प्रदेश में अब तक 399 लोगों की मौत होने के साथ ही 17,271 संक्रमित मिले हैं। वहीं, 3261 एक्टिव केस हैं।

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस