जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान के पेट्रोल पंप शनिवार को एक दिन के लिए बंद रहेंगे। राज्य सरकार से पेट्रोल और डीजल पर वैट की कमी की मांग को लेकर पेट्रोल पंप संचालक शनिवार को एक दिन की हड़ताल रखेंगे। इसके बाद भी यदि मांग नहीं मानी गई तो 25 अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू की जाएगी। शनिवार को होने वाली एक दिन की हड़ताल के कारण प्रदेश के 7 हजार पेट्रोल पंप बंद रहेंगे। इससे करीब 3 करोड़ लीटर पेट्रोल व डीजल की बिक्री प्रभावित होगी। सरकार को रोड़ सेस सहित 34 करोड़ के राजस्व का नुकसान होगा।

पेट्राेल पंप संचालकों का कहना है कि राज्य में पिछले दो साल में पेट्रोल पर वैट 26 से बढ़ाकर 38 फीसदी और डीजल पर 18 से बढ़ाकर 28 प्रतिशत कर दिया। इस तरह पेट्रोल पर 12 व डीजल पर 12 फीसदी की बढ़ोतरी की गई। पिछले दिनों इनमें 2 प्रतिशत की कमी तो की, लेकिन फिर भी अन्य राज्यों के मुकाबले राजस्थान में पेट्रोल व डीजल महंगा है। राजस्थान पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन की वैट स्टेयरिंग कमेटी के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह भाटी ने बताया कि अपनी मांगों को लेकर पेट्रोल पंप संचालकों ने कई बार सरकार का ध्यान आकर्षित करने का प्रयास किया,लेकिन सफलता नहीं मिली।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी मुलाकात का समय नहीं दिया। उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्यों में राजस्थान के मुकाबले पेट्रोल व डीजल 5 से 10 रूपए सस्ता होने के कारण यहां के संचालकों को काफी नुकसान हो रहा है। पड़ोसी राज्यों से आने वाले वाहन चालक राजस्थान की सीमा में प्रवेश से पहले ही पेट्रोल व डीजल लेकर आते हैं। उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्यों ने अपनी सीमा पर बड़े-बड़े बोर्ड लगा रखे हैं,जिन पर लिखा है राजस्थान से सस्ता डीजल और पेट्रोल। पेट्रोल पंप संचालक वैट कम करने की मांग को लेकर शनिवार को सुबह 6 से रात 12 बजे तक बंद रखेंगे। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021