जागरण संवाददाता, जयपुर। Coronavirus. कोरोना वायरस राजस्थान के 16 जिलों में फैल गया है। शुक्रवार को प्रदेश के भरतपुर जिले में कामां निवासी एक व्यक्ति की मौत हो गई। हालांकि अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। वहीं, 32 नए पॉजिटिव केस मिले हैं। इसके साथ ही प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मामलों का कुल आंकड़ा 168 हो गया। भरतपुर के अस्पताल में शुक्रवार को जिस व्यक्ति की मौत हुई है, वह हरियाणा में ईंट-भट्टे पर काम करता था और खांसी, बुखार व गले में दर्द से पीड़ित था। वह भरतपुर जिले में कामां तहसील के उदारका गांव का रहने वाला था। उसका सैंपल जांच के लिए जयपुर एसएमएस अस्पताल भेजा गया था।

उधर, दिल्ली से आए तब्लीगी जमात के लोगों ने प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा बढ़ाया। शुक्रवार को सबसे अधिक 12 लोग टोंक में मिले हैं। यह सभी टोंक में पहले पॉजिटिव मिल चुके तब्लीगी जमात के लोगों के परिवार से हैं। बीकानेर में भी दो तब्लीगी जमात के लोग संक्रमित मिले हैं। इसके साथ जयपुर में भी 12 नए केस सामने आए हैं। वहीं, तीन केस उदयपुर में सामने आए। इसके बाद जोधपुर में ईरान से एयरलिफ्ट कर लाए गए तीन लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। दौसा में एक मामला सामने आया है। वहीं, दो दिन में तब्लीगी संक्रमित लोगों की संख्या 24 हो गई है। शुक्रवार को तब्लीगी जमात से जुड़े जो लोग पॉजिटिव मिले हैं, उनमें पांच तमिलनाडु के हैं। इससे पहले गुरुवार को 13 नए मामले सामने आए थे। प्रदेश में कोरोना वायरस से अब तक चार लोगों की मौत हुई है।

33 में से 16 जिलों में कोरोना का प्रकोप

राजस्थान में कुल 33 जिले हैं। इनमें से अब तक 16 जिलों में कोरोना के केस मिल चुके हैं। सबसे ज्यादा 53 पॉजिटिव जयपुर में मिल चुके हैं। इसके अलावा भीलवाड़ा में 26, झुंझुनूं में नौ, जोधपुर में 31 (इसमें 21 ईरान से आए), चूरू में आठ, टोंक में 16, प्रतापगढ़ में दो, डूंगरपुर में तीन, अजमेर में पांच, अलवर में दो, बीकानेर में दो, उदयपुर में चार, दौसा, भरतपुर, धौलपुर, पाली और सीकर में एक-एक संक्रमित मिला।

चिकित्सा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने बताया कि प्रदेश में अब तक 8852 सैंपल लिए गए इनमें से 145 पॉजिटिव मिले और 8378 नेगेटिव मिले हैं। 329 की रिपोर्ट आना अभी बाकी है। 21 नेगेटिव को इलाज के बाद पॉजिटिव किया गया। इनमें से 11 करे अस्पताल घर भेज दिया गया।

टोंक में 12 लोगों के एक साथ कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद हरकत में आई सरकार ने 20 हजार 330 लोगों को होम क्वारंटाइन में रखने के साथ ही घर-घर सर्वे का काम तेज कर दिया है। चिकित्सा विभाग की टीमों ने करीब 12 लाख लोगों की स्क्रीनिंग की है। डब्ल्यूएचओ की टीम भी टोंक पहुंच गई है। इससे पहले भीलवाड़ा में तीन दिन तक इस टीम ने दौरा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए थे। टोंक के पुलिस अधीक्षक आदर्श सिद्धू ने बताया कि यहां से 15 लोगों के मरकज में जाने की जानकारी मिली है। इनमें से पांच को ट्रेस कर लिया गया और 10 की तलाश की जा रही है।

सीएम गहलोत की अपील

सीएम अशोक गहलोत ने दिल्ली में तब्लीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होने या किसी भी तरह के संपर्क में आने के बाद प्रदेश में आए लोगों से अपील की है कि वे अपना परीक्षण कराएं। उन्होंने कहा कि विदेश यात्रा करने वाले लोग खुद जांच कराने के लिए आगे आएं।

चिकित्सा मंत्री ने की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग

कोरोना पॉजिटिव की बढ़ती संख्या को देखते हुए चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने शुक्रवार को जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद किया। उन्होंने बताया कि टोंक में शुक्रवार को जो नए मरीज मिले हैं। वे तब्लीगी जमाती के परिजन हैं। जयपुर में भी जमात से जुड़े लोग मिले हैं। इससे पहले जयपुर में ओमान से आए रामगंज के एक व्यक्ति के कारण 36 लोग पॉजिटिव पाए गए, 150 लोगों को आइसोलेट किया गया है। उन्होंने कहा कि कुछ स्थानों पर स्वास्थ्यकर्मियों के साथ दु‌र्व्यवहार की जानकारी मिली है, ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस