जयपुर, ब्यूरो। Rajasthan BJP. राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जिला अध्यक्षों के चुनाव का रास्ता साफ हो गया है। पार्टी के संविधान के अनुसार, पार्टी ने 50 प्रतिशत से अधिक मंडलों के चुनाव करा लिए हैं। हालांकि जिन मंडलों के चुनाव अटके हैं, वहां पार्टी की खींचतान की स्थिति सामने आई है और इनमें राजधानी जयपुर भी शामिल है। सूत्रों के मुताबिक, यहां भी शीघ्र चुनाव करवाने की कवायद जारी है। 

राजस्थान में भाजपा के 1049 मंडल हैं। अब तक 593 मंडल अध्यक्ष चुने जा चुके हैं। नौ संगठनात्मक जिले ऐसे हैं, जिनमें अभी तक कई मंडल अध्यक्षों का निर्वाचन नहीं हो पाया है और इससे पहले ही वहां ऊपर की इकाई यानि जिला अध्यक्ष के निर्वाचन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि मंडल अध्यक्षों के चुनाव में स्थानीय स्तर की गुटबाजी सामने आ रही है। क्षेत्र के विधायक या विधायक का चुनाव लड़ चुके नेता अपने हिसाब से मंडल अध्यक्ष बनवाना चाहते हैं, जबकि इस बार पार्टी में संघ पृष्ठभूमि के कार्यकर्ताओं को मौका दिए जाने पर ज्यादा जोर दिया जा रहा है। इसके अलावा और भी कई मुद्दों के कारण चुनाव नहीं हो पाए हैं।

जानें, कहां-कितने मंडल अध्यक्षों के चुनाव नहीं हो सके

जिला अटके मंडल

जयपुर शहर 33

जयपुर देहात 29

झुंझुनूं 39

दौसा 25

धौलपुर 19

करौली 22

कोटा शहर 14

कोटा देहात 19

बांसवाड़ा 22 पार्टी

संविधान में है ये प्रावधान

पूनिया राजस्थान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया का कहना है कि पार्टी के संविधान के अनुसार निचली इकाई के आधे से अधिक चुनाव हो जाएं तो ऊपर की इकाई के चुनाव कराए जा सकते हैं। इसी के तहत बुधवार को जिला अध्यक्षों चुनाव की प्रक्रिया के बारे में बैठक थी। जल्द ही ये चुनाव करा लिए जाएंगे। इसके बाद केंद्र के निर्देश पर प्रदेश के चुनाव की तारीख तय होगी। 

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस