जयपुर, जागरण संवाददाता। लॉकडाउन-4 खत्म होने के बाद राजस्थान में सोमवार को कुछ और छूट दी जा सकती है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर अधिकारियों ने बाद की रणनीति का ड्राफ्ट तैयार कर लिया है। इसमें रोड़वेज बसों का संचालन हाईवे पर कराने के साथ ही उनमें सोशल डिस्टेंसिंग की पालना की जाएगी।

जिला और तहसील मुख्यालयों पर बसें जाएगी। करीब 65 दिन से बंद पर्यटन एवं धार्मिक स्थलों में कामकाज शुरू किया जाएगा। मंदिर में पूजा-अर्चना शुरू की जाएगी,लेकिन धार्मिक आयोजन नहीं होगा। पूजा-अर्चना में दो या तीन लोग ही मौजूद रहेंगे। मंदिर में लोग सोशल डिस्टेंसिंग के साथ दर्शन कर सकेंगे। प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थलों में भी पर्यटकों को आने की अनुमति दी जाएगी, लेकिन पुरातत्व महत्व के किले और पुराने स्मारक में क्षमता से आधे लोग अंदर प्रवेश कर सकेंगे। धारा-144 फिलहाल लागू रहेगी।

जानकारी के अनुसार हॉटस्पॉट वाले इलाकों में कर्फ्यू धीरे-धीरे हटाया जाएगा। प्रदेश के पुरातत्व विभाग के निदेशक प्रकाश शर्मा ने बताया कि स्मारक खोलने के लिए सरकार को प्रस्ताव भेजा गया था, उम्मीद है शीघ्र ही इस पर मंजूरी मिल जाएगी। केंद्र सरकार की गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार शहरों एवं गांवों में किसी तरह का धार्मिक एवं सामाजिक कार्यक्रम आयोजित नहीं होने देगी। किसी भी दुकान में 4 से अधिक लोग एक साथ अंदर नहीं जा सकेंगे।

होटलों को खोलने का भी प्रस्ताव है, लेकिन इनमें प्रत्येक कमरे में एक ही यात्री को ठहरने की अनुमति दी जाएगी। रेस्टारेंट भी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ खोलने का प्रस्ताव अधिकारियों ने सीएम को दिया है। सरकारी कार्यालयों में सोमवार से समस्त स्टाफ को बुलाने को लेकर भी अधिकारियों ने योजना तैयार की है। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस