जागरण संवाददाता, जयपुर। करीब आठ साल पहले दिल्ली के एक युवक की हत्या कर उसका शव राजस्थान में अलवर जिले के टपूकड़ा में दफाना दिया गया। प्रकरण की जांच में जुटी दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने काफी जांच के बाद मृतक युवक का कंकाल बरामद किया है। दिल्ली पुलिस को सबूत के तौर पर 27 हड्डियां बरामद हुई हैं। दिल्ली पुलिस ने अलवर पुलिस के सहयोग से मामले का पर्दाफाश किया। जांच में सामने आया कि मृतक युवक की पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर उसकी हत्या की थी।

जानकारी के अनुसार, दिल्ली के कापसहेड़ा पुलिस थाने में वर्ष 2011 में रवि कुमार के गायब होने को लेकर मुकदमा दर्ज कराया गया। मामले की जांच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच कर रही थी। क्राइम ब्रांच को इस मामले में अलवर के टपूकड़ा निवासी कमल सिंघला की भूमिका होने की जानकारी मिली। इस पर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने अलवर पुलिस से संपर्क किया। अलवर पुलिस ने दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के साथ मिलकर सिंघला के खिलाफ साक्ष्य एकत्रित किए। उसके बाद सिंघला का नार्को टेस्ट कराया गया।

इस टेस्ट में सामने आया कि सिंघला ने रवि कुमार की पत्‍‌नी के साथ मिलकर उसकी हत्या की थी। दोनों ने रवि कुमार की हत्या दिल्ली में ही की थी, लेकिन बाद में शव को एक बोरी में डालकर अलवर जिले के टपूकड़ा लेकर आ गए। शव को यहीं सुनसान इलाके में दफना दिया। सिंघला और रवि कुमार की पत्‍‌नी टपूकड़ा के ही रहने वाले हैं। दोनों के बीच प्रेम संबंध थे, लेकिन इसी बीच महिला का विवाह हो गया। विवाह के बाद महिला ने सिंघला से प्रेम संबंध जारी रखे। इस पर रवि कुमार ने आपत्ति जताई तो दोनों ने मिलकर उसकी हत्या कर दी।

खुदाई में 27 हड्डियां बरामद 

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने अलवर पुलिस के सहयोग से सिंघला को पिछले दिनों गिरफ्तार किया। उसकी निशानदेही पर शनिवार को टपूकड़ा पुलिस थाना अधिकारी जयप्रकाश और उपखंड अधिकारी खेमाराम की मौजूदगी में उस स्थान की खोदाई कराई गई जहां रवि कुमार के शव को दबाया गया था। खोदाई में 27 हड्डियां बरामद की गई। रविवार को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच और टपूकड़ा पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों से पूछताछ की है। सिंघला ट्रांसपोर्ट व्यवसाय से जुड़ा हुआ है।

पुलिस के अनुसार, मृतक रवि कुमार के पिता जयभगवान ने अपने बेटे की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उनकी रिपोर्ट के आधार पर जांच को अंजाम तक पहुंचाया गया। दोनों आरोपितों ने जिस स्थान पर रवि कुमार का शव दबाया था, वहां पहले जंगल था। अब आबादी बस गई है।

राजस्थान की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप