जयपुर, [नरेन्द्र शर्मा]। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने अपने राजस्थान दौरे के अंतिम दिन रविवार को मंत्रियों,सांसदों और विधायकों को अहंकार त्यागकर आम जन एवं पार्टी कार्यकर्ता के बीच रहने की हिदायत दी।

शाह ने कहा कि सभी जनप्रतिनिधियों को 'कॉमन मेन' बनकर काम करना होगा। शाह ने सांसदों और विधायकों को पार्टी संगठन से पूछकर ही अपने कोष को खर्च करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जहां संगठन कहे वहां सांसद अथवा विधायक कोष का उपयोग होना चाहिए,इसके लिए संगठन को पार्टी के निचले स्तर से फीडबैक लेना होगा कि कहां और किस विकास कार्य के लिए पैसा खर्च करने की जरूरत है।  

जयपुर स्थित प्रदेश भाजपा मुख्यालय में मंत्रियों,सासंदों,विधायकों,बोर्ड एवं निगमों के अध्यक्षों एवं स्थानीय निकायों के प्रतिनिधियों की बैठक में शाह ने कहा कि सभी पहले संगठन को महत्व दें यह समझकर काम करें कि यदि पार्टी रहेगी तो हम रहेंगे,हमारे पीछे पार्टी नहीं बल्कि हम पार्टी के पीछे है। शाह ने रविवार को लगातार दूसरे दिन केन्द्रीय मंत्रियों एवं राज्य के मंत्रियों,सासंदों और विधायकों को जिलों में दौरे पर जाते समय संगठन को सूचना देने के साथ ही बूथ स्तर तक के कार्यकर्ता से संवाद करने की भी हिदायत दी। राजस्थान कोटे के केन्द्रीय मंत्री यह देखें कि यदि प्रदेश का कोई व्यक्ति दिल्ली पहुंचता है तो उसे सुनें और उसकी समस्या का निस्तारण करें। इसी तरह राज्य के मंत्रियों को आमजन के साथ ही पार्टी कार्यकर्ता के लिए अपने दरवाजे हमेशा खुले रखने होंगे। बैठक में शामिल कुछ नेताओं ने यह भी कहा कि सांसदों और विधायकों द्वारा कार्यकर्ताओं की सुनवाई नहीं होने की शिकायतें दिल्ली तक मिल रही है,इसमें सुधार करना होगा। उन्होंने कहा कि अभी विधानसभा चुनाव में एक वर्ष से अधिक का समय है,इसलिए अभी से तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।

चुनाव के समय सक्रिय होने की परम्परा खत्म करनी होगी। शाह ने सभी नेताओं को जनता के बीच जाकर उन्हे जोड़ने के निर्देश दिए। बैठक में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सरकारी योजनाओं की जानकारी देने के साथ ही कहा कि वर्तमान समय में सोशल मीडिया का काफी महत्व है,इस बात को ध्यान में रखकर सभी को काम करना होगा। बैठक के दौरान कुछ प्रतिनिधियों ने जीएसटी के बाद प्रदेश के मार्बल उधोग,कपड़ा उधोग,मूर्ति उधोग सहित कुछ अन्य उधोगों को होने वाली समस्याओं पर अपनी बात रखी तो शाह ने कहा कि यह राष्ट्रीय विषय है,पार्टी जीएसटी के पक्ष में है। बैठक में जिला परिषदों के प्रमुखों ने अपनी सुविधाओं के साथ ही सरपंचों के वेतन-भत्ते बढ़ाने की बात रखी। बैठक में पार्टी के महामंत्री भूपेन्द्र यादव,राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री वी.सतीश भी मौजूद थे। 

 

शाह ने कहा, विस्तारक यह ना समझें कि उन्हे टिकट मिलेगा,या वे तय करेंगे

 

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को जयपुर स्थित प्रदेश भाजपा मुख्यालय में पार्टी के 200 विस्तारकों की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री एवं प्रदेश अध्यक्ष को सभी विस्तारकों को मोटरसाइकिल मुहैया कराने के निर्देश दिए। बैठक में कुछ विस्तारकों द्वारा विधानसभा क्षेत्रों के ग्रामीण इलाकों में आवागमन में होने वाली समस्याओं को उठाया तो शाह ने कहा कि सभी मोटरसाइकिल दी जाएगी,वहीं प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी ने कहा कि पेट्रोल का खर्च भी पार्टी देगी।

शाह ने प्रत्येक विस्तारक से रिपोर्ट ली और उसके बाद संबोधित करते हुए कहा कि विस्तारकों को सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों में जाकर पार्टी का विस्तार करना है,लोगों को पार्टी के साथ जोड़ना है। उन्होंने यह भी कहा कि विस्तारक यह ना समझ लें कि उन्हे आगामी विधानसभा चुनाव में टिकट मिलेगा अथवा उनकी अनुशंसा पर टिकट तय होंगे ऐसा नहीं है। विस्तारकों को केवल पार्टी के लिए काम करना है। विस्तारकों का काम पार्टी को अजेय स्थिति में लाना है। 

 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस