जोधपुर, रंजन दवे। बाड़मेर के जसोल में रामकथा के दौरान पंडाल गिरने से हुए लोगो की मौत से सरहदी जिला बाड़मेर उबर भी नही पाया कि एक बार फिर बाड़मेर जिले से दर्दभरी खबर आई है। अब बाड़मेर के चौहटन में बुधवार को एक मां का अपनी पांच बेटियों के साथ टांके (पानी का कुण्ड) में शव मिला है। शुरुआती जांच में मामला आत्महत्या का लग रहा है, मगर वास्तविकता का पता पुलिस की विस्तृत जांच के बाद ही चल सकेगा।

जानकारी के अनुसार बावड़ी कल्ला निवासी वनुदेवी (42)पत्नी राणाराम ने पहले अपनी पांच बेटियों को एक-एक करके टांके में धकेला और खुद भी टांके में कूद गई। इस दुखद घटना में वनुदेवी (42), संतोष(13), ममता (11), नैना (09), हंसा (07) व हेमलता (03) की पानी मे डूबने से मौत हो गई।

खबर सुनकर आसपास के क्षेत्र में सनसनी फैल गई और घटनास्थल पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। सूचना मिलने पर चौहटन पुलिस थानाधिकारी रमेश ढाका व पुलिसकर्मी मौके पर पहुंची और घटना की जानकारी लेने के साथ शवो को टांके से बाहर निकालने के प्रयास शुरू किए।

वहीं चौहटन डिप्टी भी मौके के लिए रवाना हुए। पूरे घटनाक्रम को लेकर पुलिस आसपास के लोगों से पूछताछ कर रही है और मामले की जांच शुरू कर दी है। फिलहाल आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस