जयपुर, जागरण संवाददाता।कथित गोतस्कर अकबर उर्फ रकबर की मौत के मामले को लेकर मेव समाज 19 अगस्त को महापंचायत करेगा। इस महापंचायत में राजस्थान,हरियाणा और उत्तरप्रदेश के मेवात इलाकों से मेव समाज के लोग शामिल होंगे।

हालांकि मेव महापंचायत का स्थान तो तय नहीं हो सका,लेकिन अलवर में तनाव अवश्य उत्पन्न हो गया। भाजपा विधायक खुलकर इस महापंचायत के विरोध में आ गए है। मेव पंचायत के संरक्षक शेर मोहम्मद की अध्यक्षता में बुधवार को अलवर में हुई मेव समाज के प्रमुख लोगों की बैठक में तय किया गया कि 19 अगस्त को होने वाली मेव महापंचायत में दलित समाज के नेताओं को भी आमंत्रित किया जाएगा।

सामाजिक कार्यकर्ता योगेन्द्र यादव भी इस महापंचायत में शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि महापंचायत में गोरक्षा के नाम पर होने वाली गुंडागर्दी और पैसों की वसूली के खिलाफ देशभर में आंदोलन चलाने का निर्णय लिया जाएगा। इधर भाजपा विधायक बनवारी लाल सिंघल और ज्ञानदेव आहूजा ने महापंचायत का विरोध किया है। दोनों भाजपा विधायकों ने कहा कि किसी भी हालत में मेव समाज के लोगों को एकत्रित नहीं होने दिया जाएगा।

उन्होंने कहा,अगर हरियाणा के लोगों को ला कर रकबर के मामले में कोई महापंचायत की कोशिश की तो, महापंचायत को फेल करेंगे। सिंघल ने कहा कि मेव समाज गोतस्करी और आपराधिक गतिविधियों में शामिल है।

वहीं मेव समाज के संरक्षक शेर मोहम्मद ने कहा कि भाजपा के नेता धार्मिक माहौल को बिगाड़ने के लिए उलल-जुलूल बयानबाजी कर रहे है। उनके खिलाफ प्रसासन कोई कार्यवाही करने के बजाय हमें ही धमकाने में लगा हुआ है। उन्होंने कहा,महापंचायत हर हालत में होकर रहेगी,किसी में दम हो तो रोक कर दिखाए।  

Posted By: Preeti jha